CM पुष्‍कर धामी
CM पुष्‍कर धामीSocial Media

विज्ञान ने हमारी कई चीजें आसान की हैं, अनुसंधान लगातार होते रहने चाहिए: CM पुष्‍कर धामी

उत्तराखंड CM पुष्कर सिंह धामी ने देहरादून में 'सतत विकास हेतु हिमालय का भूविज्ञान' पर फेडरेशन ऑफ इंडियन जियोसाइंसेज एसोसिएशन के तीसरे त्रैवार्षिक सम्मेलन को संबोधित कर कही ये बातें...

उत्तराखंड, भारत। उत्तराखंड के देहरादून में आज गुरूवार को 'सतत विकास हेतु हिमालय का भूविज्ञान' पर फेडरेशन ऑफ इंडियन जियोसाइंसेज एसोसिएशन का तीसरा त्रैवार्षिक सम्मेलन आयोजित हुआ, जिसमें CM पुष्कर सिंह धामी भी शामिल हुए और इस मौके पर उन्‍होंने इस सम्‍मेलन को संबोधित कर अपने संबोधन में यह खास बातें कहीं।

विज्ञान ने हमारी कई चीजें आसान की है :

उत्तराखंड CM पुष्कर सिंह धामी ने देहरादून में 'सतत विकास हेतु हिमालय का भूविज्ञान' पर फेडरेशन ऑफ इंडियन जियोसाइंसेज एसोसिएशन के तीसरे त्रैवार्षिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा- विज्ञान ने हमारी कई चीजें आसान की हैं। अनुसंधान लगातार होते रहने चाहिए। प्राकृतिक आपदाएं हमारे सामने बड़ी चुनौती है। हर साल आने वाली आपदाओं पर भी सेमिनार में चर्चा हो। अगर गहराई से अध्ययन किया जाए तो हम पाते हैं कि हिमालय का भूविज्ञान हमारे विकास का सतत माध्यम है।

भूकंप और आपदा को रोकना हमारे हाथ में नहीं है, लेकिन इस पर हम सबको मिलकर काम करना होगा। अभी जापानी प्रतिनिधिमंडल से भूकंप को लेकर चर्चा हुई है। मैंने उनसे कहा कि, इस दिशा में हमारा मार्गदर्शन करें।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

हमारी सरकार पर्यावरण की दिशा में काम कर रही है :

आगे उन्‍होंने अपने संबोधन में यह भी बताया कि, ''पहले पहाड़ में अधिक मात्रा में भू-जल होता था। नाले और धारे भी खूब होते थे। लेकिन धीरे-धीरे ये कम हो रहे हैं। इन सब पर भी हमारे वैज्ञानिकों को चिंतन करना चाहिए।''

दिल्ली में प्रदूषण की जो समस्या है वो एक दिन यहां भी हो सकती है :

इसके अलावा CM पुष्‍कर सिंह धामी ने अपने संबाेधन में प्रदूषण का भी जिक्र किया और कहा कि, ''आज दिल्ली में प्रदूषण की जो समस्या है वो एक दिन यहां भी हो सकती है, इसलिए इस दिशा में भी हमें सोचने की आवश्यकता है। हमारी सरकार सभी को साथ में लेकर पर्यावरण की दिशा में काम कर रही है।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co