CM पुष्‍कर धामी
CM पुष्‍कर धामीSocial Media

हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है, कृषि हमारी अर्थव्यवस्था का मूल आधार है: CM पुष्‍कर धामी

उत्तराखण्ड के CM पुष्‍कर सिंह धामी ने राज्य स्तरीय प्राकृतिक खेती कार्यशाला को संबोधित कर कहा- इस कार्यशाला के द्वारा प्राकृतिक कृषि के क्षेत्रों में किए जा रहे नवीन प्रयासों के बारे में चर्चा करेंगे।

हाइलाइट्स :

  • CM पुष्‍कर सिंह धामी ने देहरादून में एक कार्यक्रम में किया प्रतिभाग

  • CM पुष्‍कर सिंह धामी ने कार्यक्रम को किया संबोधित

  • CM धामी ने कहा, हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है

  • CM पुष्‍कर धामी बोले- परंपरागत कृषि हेतु उत्तराखण्ड सबसे उपयुक्त स्थान है

उत्‍तराखंड, भारत। उत्तराखण्ड के मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने आज गुरूवार को देहरादून, उत्तराखण्ड में प्राकृतिक खेती का शुभारम्भ होने के उपलक्ष्य में आयोजित 'राज्य स्तरीय प्राकृतिक खेती कार्यशाला' में प्रतिभाग किया। इस दौरान उन्‍होंने कार्यक्रम को भी संबोधित किया।

राज्य स्तरीय प्राकृतिक खेती कार्यशाला में आने पर हार्दिक बधाई :

इस दौरान उत्तराखण्ड के मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने राज्य स्तरीय प्राकृतिक खेती कार्यशाला कार्यक्रम को संबोधित कर कहा- मैं आप सभी का राज्य स्तरीय प्राकृतिक खेती कार्यशाला में आने पर हार्दिक बधाई एवं अभिनंदन करता हूँ। इस कार्यशाला के द्वारा प्राकृतिक कृषि के क्षेत्रों में किए जा रहे नवीन प्रयासों के बारे में चर्चा करेंगे। मुझे पूरा विश्वास है कि इस मंथन से हमें प्राकृतिक कृषि के क्षेत्र में नई संभावनाओं को उजागर करने वाला अमृत प्राप्त होगा।

हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है :

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने संबोधन में आगे यह बात भी कही कि, ''हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है, कृषि हमारी अर्थव्यवस्था का मूल आधार है, इस बार के बजट में कृषि को हाईटेक बनाने के साथ-साथ प्राकृतिक कृषि पर भी अभूतपूर्व रूप से फोकस किया गया है।''

परंपरागत कृषि हेतु उत्तराखण्ड सबसे उपयुक्त स्थान है। जलवायु विविधता के कारण हमारे प्रदेश में विभिन्न प्रकार की फसलों की खेती की जाती है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

प्राकृतिक खेती ही एकमात्र समाधान :

उन्‍होंने बताया कि, ''आज रासायनिक उपकरणों एवं उर्वरकों के अंधाधुंध प्रयोगों का असर मिट्टी और पर्यावरण के साथ ही हमारे पशुओं के सेहत पर भी देखने को मिल रहा है, इस समस्या का प्राकृतिक खेती ही एकमात्र समाधान है।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co