CM पुष्कर धामी ने उत्तरायणी कौथिग मेले का किया शुभारम्भ
CM पुष्कर धामी ने उत्तरायणी कौथिग मेले का किया शुभारम्भ Social Media

CM पुष्कर धामी ने उत्तरायणी कौथिग मेले का किया शुभारम्भ व विकास योजनाओं की दी सौगात

उत्तराखंड के मुख्‍यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज उत्तरायणी कौथिग मेले का शुभारम्भ एवं विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण /शिलान्यास किया एवं दिया यह संबोधन...

उत्तराखंड, भारत। उत्तराखंड के टनकपुर, चम्पावत के गांधी मैदान में आज रविवार को उत्तरायणी कौथिग मेले का शुभारंभ कार्यक्रम का आयोजन हुआ, जिसमें राज्‍य के मुख्‍यमंत्री पुष्कर सिंह धामी शामिल हुए और इस दौरान उन्‍हाेंने उत्तरायणी कौथिग मेले का शुभारम्भ किया एवं विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण /शिलान्यास कर राज्‍य को सौगात दी है।

कार्यक्रम में CM पुष्‍कर सिंह धामी का संबोधन :

उत्तरायणी कौथिग मेले के शुभारम्भ एवं विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास कार्यक्रम को उत्तराखंड के मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने संबोधित किया। इस दौरान CM पुष्‍कर सिंह धामी ने अपने संबोधन में कहा- सूर्य के उत्तरायण में आने से हमारे सब काम शुरू हो जाते हैं। अच्छे दिनों की शुरूआत होती है, सीधे-सीधे हमे सूर्य का प्रकाश प्राप्त होने लगता है।

जहां राम पैदा हुए वहां लंबा कालखंड बीत गया पर एक मंदिर नहीं बना, वहां एक भव्य मंदिर बनना चाहिए था। हम सबने कहा कि राम लला हम लाएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे। अगर आज वहां मंदिर निर्माण हो रहा है तो किसी और के कालखंड में नहीं बल्कि हमारे PM मोदी के कालखंड में हो रहा है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

इस दौरान उन्‍होंने अपने संबोधन में यह भी कहा कि, बागेश्वर जिला रेलवे मानचित्र में दर्ज होगा। सर्वे कार्य में तेजी आएगी। टनकपुर-बागेश्वर रेल मार्ग प्रगति प्रदान की जाएगी। साथ ही उन्होंने बागेश्वर में खेल मैदान, गरुड़ गोलू मार्केट को विनियमित करने कपकोट-धरमघर मोटर मार्ग का जीर्णोंद्वार करने की घोषणा की।

  • मकर संक्रांति पर्व का आध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व है। यह पर्व शुभ मुहूर्त का दिन है। इसे पुण्यकाल भी माना जाता है। पैराणिक काल से पर्व का महत्व है। तकनीकी कारणों से वह मेले के उदघाटन पर नहीं पहुंच सके। जिस पर वह खेद प्रकट करते हैं। मेला बचपन का शौक रहा है।

  • लोक संस्कृतिक को बढ़ाने के लिए सरकार प्रत्यनशील है। उत्तरायणी राष्ट्र और प्रकृति को नजदीक से समझने का पर्व है। प्रधानमंत्री नरेंद्र के मार्गदर्शन में देश आगे बढ़ रहा है। उत्तराखंड को अग्रणीय राज्य बनाना है। सरकार और संगठन लगातार प्रत्यशील है। प्रदेश को सौर ऊर्जा के क्षेत्र राज्य आगे बढ़ेगा।

पंडित गोविन्द बल्लभ पंत पर्वतीय संस्कृत उपवन में मेला आयोजित :

बता दें कि, उत्तरायणी कौथिग मेला गोमती नदी के तट पर स्थित पंडित गोविन्द बल्लभ पंत पर्वतीय संस्कृत उपवन में आयोजित किया जा रहा है। पर्वतीय महापरिषद की तरफ से साल 2010 में उत्तरायणी कौथिग (मेले) की शुरूआत की गई है, तभी से साल दर साल यह मेला अपना भव्य स्वरूप धारण कर रहा है। हालांकि, अभी साल 2010 में यह मेला तीन दिवस के लिए लगाया गया था, लेकिन इस बार यह मेला करीब 10 दिनों का होगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co