CM पुष्‍कर सिंह धामी ने जोशीमठ स्थिति पर की समीक्षा बैठक
CM पुष्‍कर सिंह धामी ने जोशीमठ स्थिति पर की समीक्षा बैठकSocial Media

उत्तराखंड के CM पुष्‍कर सिंह धामी ने जोशीमठ स्थिति पर की समीक्षा बैठक

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज जोशीमठ की स्थिति पर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और यह निर्देश दिए...

उत्तराखंड, भारत। उत्तराखंड के जोशीमठ में भू धंसाव के संकट के बीच देहरादून में आज गुरूवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जोशीमठ की स्थिति पर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

रिपोर्ट आते ही आगे की योजना पर तेजी से कार्य किया :

जोशीमठ की स्थिति पर समीक्षा बैठक के दौरान उत्तराखंड के CM पुष्कर सिंह धामी ने ''सचिवालय में जोशीमठ में चल रहे राहत कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि, जोशीमठ में भू-धंसाव के कारणों को लेकर सभी तकनीकी संस्थानों एवं वैज्ञानिकों की रिपोर्ट आते ही आगे की योजना पर तेजी से कार्य किया जाए। विस्थापन के लिए वहां के लोगों से मिलकर सुझाव लिए जाएं एवं इस सम्बन्ध में जल्द से जल्द शासन को रिपोर्ट भेजी जाए। जोशीमठ के प्रभावित क्षेत्र से जिन लोगों को विस्थापित किया जायेगा, उनके लिए सरकार की ओर से बेहतर व्यवस्थाएं की जायेंगी।''

हम जोशीमठ क्षेत्र की निगरानी रोज कर रहे हैं। वहां पर पानी 570 LPM से घटकर 100 LPM तक आ गया है। भू-धंसाव और आपदा के कारणों को जानने के लिए भारत सरकार के 8 संस्थान काम कर रहे हैं। रिपोर्ट का आकलन करने के बाद एक रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

राज्य सरकार दोनों ही आपदा निवारण के लिए हर संभव काम कर रहें :

उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी में आगे यह भी कहा कि, ''इसके साथ ही पुनर्वास के लिए नए स्थानों का वैकल्पिक चयन किया गया है उसका भी अध्ययन किया जा रहा है। भारत सरकार और राज्य सरकार दोनों ही आपदा निवारण के लिए हर संभव काम कर रहें। जोशीमठ में 65-70% लोग सामान्य जीवन जी रहे हैं। अभी तक क्षेत्र का 25 प्रतिशत भू-भाग, भू-धंसाव से प्रभावित है, जिसकी अनुमानित जनसंख्या 25000 है। पालिका क्षेत्र में दर्ज भवन लगभग 4500 हैं। उसमें से 849 भवनों में चौड़ी दरारें मिल चुकी हैं। अस्थायी रूप से विस्थापित परिवार 250 हैं। सर्वे गतिमान है एवं उक्त प्रभावित परिवार तथा भवन निरंतर बढ़ रहे हैं।''

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co