PM मोदी संग CM ठाकरे और अन्य मंत्रियों की मुलाकात- इन मुद्दाें पर हुई चर्चा
PM मोदी संग CM ठाकरे और अन्य मंत्रियों की मुलाकात- इन मुद्दाें पर हुई चर्चाTwitter

PM मोदी संग CM ठाकरे और अन्य मंत्रियों की मुलाकात- इन मुद्दाें पर हुई चर्चा

दिल्‍ली में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने उनके आवास पहुंचे और मुलाकात की।

दिल्ली, भारत। कोरोना संकट के बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण आज 8 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए उनके आवास पहुंचे हैं और उनसे मुलाकात की।

इस दौरान महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और अन्य राज्य मंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक करने के बाद 7 लोक कल्याण मार्ग से रवाना भी हो गए हैं।

इन मुद्दाें पर हुई चर्चा :

PM मोदी संग CM ठाकरे और अन्य मंत्रियों की मुलाकात के दौरान किस मुद्दें पर चर्चा हुई इस बारे में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जानकारी देते हुए बताया कि, पीएम मोदी के साथ मराठा आरक्षण, राजनीतिक आरक्षण, मेट्रो शेड, जीएसटी कलेक्शन, क्रॉप इंश्योरेंस, साइक्लोन और अन्य मसलों पर विस्तार से चर्चा की गई है। इसके अलावा CM उद्धव ठाकरे की ओर से मांग की गई है कि, "मराठी भाषा को केंद्र की ओर से स्टेटस दिया जाए, ऐसी मांग की गई है। तमाम विषयों को लेकर हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र सौंपे हैं।''

PM मोदी से मुलाकात के बाद CM उद्धव ठाकरे की प्रेस कॉन्फ्रेंस :

तो वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने के बाद CM उद्धव ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ये बात भी कही...

पीएम मोदी ने हमारे हर मुद्दे को ध्यान से सुना है और गंभीरता से विचार करने की बात कही है।
महाराष्ट्र CM उद्धव ठाकरे

अब आरक्षण को लेकर राज्य से ज्यादा ताकत केंद्र के पास है, ऐसे में केंद्र सरकार को इस मामले में आगे बढ़कर कदम उठाना चाहिए और सुप्रीम कोर्ट के समक्ष सभी का पक्ष रखना चाहिए।

राज्य सरकार के मंत्री अशोक चव्हाण

आरक्षण का मसला सिर्फ महाराष्ट्र का नहीं है, बल्कि देशभर का है। वहीं, जीएसटी को लेकर कहा कि हमारा 24 हजार करोड़ रुपये का हिस्सा मिलना बाकी है, इसे जल्द से जल्द हमें दिया जाए।

महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजित पवार

बता दें कि, एक महीने से भी अधिक समय पहले सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र में नौकरियों एवं शिक्षा में मराठा समुदाय के लोगों को आरक्षण देने से संबंधित 2018 का आरक्षण कानून खारिज कर दिया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co