Raj Express
www.rajexpress.co
पेट्रोल-डीजल कीमत में लगातार बढ़ोतरी
पेट्रोल-डीजल कीमत में लगातार बढ़ोतरी|Syed Dabeer Hussain - RE
भारत

पेट्रोल-डीजल की कीमत में लगातार बढ़ोत्तरी

अन्तर्राष्ट्रीय तेल बाजार में मचे हाहाकार का असर भारत में भी देखने को मिल रहा है। देश के प्रमुख महानगरों में पेट्रोल-डीजल के भाव लगातार दूसरे दिन भी बढ़े हैं।

Megha Sinha

राज एक्सप्रेस: एक तरफ जहां सऊदी में हुए ड्रोन हमले के बाद पूरी दुनिया की वैश्विक उर्जा प्रभावित हुई है, वहीं अन्तर्राष्ट्रीय तेल बाजार में मचे हाहाकार का असर भारत में भी पड़ रहा है। भारत के प्रमुख महानगरों में तेल पेट्रोल की कीमत 24 से 27 पैसे प्रति लीटर बढ़ गयी है। इनमें दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चैन्नई जैसे महानगर शामिल हैं। बुधवार को पेट्रोल की कीमत दिल्ली और कोलकाता में 25 पैसे, जबकि मुंबई में 26 और चैन्नई में 27 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ है।

वहीं डीजल के दाम भी इन राज्यों में बढ़े हैं। जहां दिल्ली और कोलकाता में पेट्रोल के दाम 24 पैसे प्रति लीटर बढ़े वहीं चेन्नई और मुंबई में 26 पैसे की बढ़ोत्तरी हुई है।

30 साल बाद अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों में एक दिन में इतना में बड़ा उछाल आया है, मंगलवार को अंतराष्ट्रीय बाजार डाउन चल रहा था। वहीं सऊदी हमले के जवाब में सैन्य कार्रवाई की आशंका की वजह से बाजार में अस्थिरता भी बनी हुई थी।

आईएएनएस के मुताबिक, पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार दो दिनों में देश की राजधानी दिल्ली में 39 पैसे प्रति लीटर बढ़े हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि पिछले हफ्ते शनिवार की सुबह सऊदी में हुए ड्रोन हमले की वजह से जिस तरह कच्चे तेल के दाम में आग लगी है वैसे ही आने वाले दिनों में भी पेट्रोल और डीजल के दाम में काफी हद तक वृद्धि हो सकती है।

विशेषज्ञ के अनुसार डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमत आम जनता को फिर से महंगाई का रोना रुलाएगी। वैसे ही देश मंदी की आर्थिक स्थिति से जूझ रहा है। ऊपर से भारत के दूसरे सबसे बड़े तेल आपूर्ति प्रतिष्ठान सऊदी अरब में हुए ड्रोन हमले ने तेल के दामों में भी बढ़ोत्तरी कर दी है।

इंडियन ऑयल वेबसाइट का ब्यौरा देखें तो मुंबई में पेट्रोल की कीमत 72.42 रूपये, कोलकाता में 75.14 रूपये, दिल्ली में 78.10 रूपये और चेन्नई में 75.26 रूपये प्रति लीटर है। वहीं डीजल के दामों ने भी छलांग लगायी है।

सऊदी अरामको के संयंत्र पर ड्रोन हमले के बाद सोमवार को बेंचमार्क कच्चा तेल बेंट्र क्रूड के भाव में 20% के आसपास उछल आया जो खाड़ी युद्ध के बाद सबसे बड़ी तेजी थी, हालांकि आखिर में मंगलवार को 14.61 % की बढ़त के साथ 69.02 डॉलर प्रति बैरल पर लगाम लगा।

लेकिन बुधवार को ब्रेंट क्रूड का भाव 0.26 % घटकर 64.38 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया जो कि तेल आपूर्ति बाधित होने की आशंका में करीब 69.02 डॉलर बैरल पर पहुंच गया था। अमेरिकी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट कच्चे तेल का भाव 0.5 फीसदी घटकर 59.06 डॉलर बैरल रहा।

वित्त मंत्री सीतारमण ने जुलाई 2019 बजट में पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क बढ़ाया था, जिसके बाद पेट्रोल-डीजल की कीमत ढ़ाई रुपये प्रति लीटर बढ़ गयी थी, लेकिन सोमवार को अन्तर्राष्ट्रीय बाजार के कच्चे तेल कारोबार के दामों में 20% की भारी उछाल के बाद भारत में सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने मंगलवार को पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाये थे जिसके बाद बुधवार को भी महानगरों में पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ी है।