25 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ाया पटवारी
25 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ाया पटवारी|Anil Tiwari
क्राइम एक्सप्रेस

25 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पटवारी को लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा

पन्ना, मध्य प्रदेश : अतिक्रमण का केस खारिज करने के एवज में मांगी थी रिश्वत। फरियादी से की गई थी एक लाख रुपये की मांग। लोकायुक्त पुलिस की ट्रैप कार्रवाई से जिले में मचा हड़कंप।

Anil Tiwari

पन्ना, मध्य प्रदेश। पन्ना जिले में बुधवार को लोकायुक्त पुलिस द्वारा रिश्वत के मामले में कार्यवाही की गई। तहसील मुख्यालय पवई में लोकायुक्त पुलिस ने आज एक ट्रैप कार्रवाई को अंजाम देते हुए पवई हल्का के पटवारी राजेन्द्र सोनी को 25 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। पटवारी पर आरोप है कि उसने रिश्वत की यह राशि फरियादी विकास जैन निवासी पवई से उसके विरुद्ध न्यायालय में चल रहे अतिक्रमण के मामले को खारिज करने के एवज ली थी। पवई में लोकायुक्त पुलिस टीम सागर की कार्रवाई के बाद प्रशासनिक हल्कों में हडकम्प मचा है। कार्रवाई की भनक लगते ही बडी संख्या में स्थानीय लोग पटवारी के शासकीय आवास के बाहर जमा हो गए।

ट्रैक कार्यवाही करने वाली टीम का नेतृत्व कर रहे लोकायुक्त पुलिस संगठन सागर के निरीक्षक अभिषेक वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि स्थानीय बस स्टैण्ड के समीप स्थित भूमि पर विकास जैन के द्वारा बाउण्ड्रीवॉल का निर्माण कराने पर तहसीलदार और पटवारी ने कुछ समय पूर्व उसके विरुद्ध शासकीय भूमि में अतिक्रमण करने का केस बना दिया था। उक्त केस तहसीलदार के न्यायालय में विचाराधीन है। कथिततौर पर इसे खारिज करने के एवज में एक लाख रुपये की मांग विकास जैन से पटवारी राजेन्द्र सोनी के द्वारा की गई थी। विकास जैन ने इसकी लिखित शिकायत लोकायुक्त पुलिस संगठन सागर से की।

मामले को निपटाने में मांग गई थी एक लाख की रिश्वत :

पूरे मामले में बताया जाता है कि मामले को निपटाने के लिए एक लाख में सौदा तय हुआ था और रिश्वत की पहली किश्त देने की बात आज दिनांक को तय की गई थी। जिस पर फरियादी द्वारा लोकायुक्त सागर में पूरे मामले की शिकायत की गई थी। मामले की बारीकी से जांच करने के बात आज लोकायुक्त पुलिस ने कार्यवाही को अंजाम देने के लिए प्लानिंग तैयार की और रिश्वत की प्रथम किस्त के रुपये आज जब 25 हजार  रुपये की राशि विकास जैन के द्वारा पटवारी आवास में पहुंचकर जैसे ही पटवारी राजेन्द्र सोनी को दी गई, तभी लोकायुक्त पुलिस की टीम ने दबिश देकर उसे रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। वहीं आरोपी पटवारी ने पत्रकारों से चर्चा में खुद को निर्दोष बताते हुए कहा कि मुझे साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। उसने बताया कि मैनें विकास जैन की तरफ से मंदिर के चंदे की रसीद काटी थी जिसके रुपए देने के नाम पर ट्रैप कार्रवाई की गई है। मामले में पटवारी के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर कार्यवाही की गई।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co