CRPF स्थापना दिवस पर मोदी-शाह का जवानों को  बधाई संदेश
CRPF स्थापना दिवस पर मोदी-शाह का जवानों को बधाई संदेशPriyanka Sahu -RE

CRPF स्थापना दिवस पर मोदी-शाह का जवानों को बधाई संदेश

CRPF स्थापना दिवस : विश्‍व का सबसे बड़ा और पुराना बल CRPF के 82वें स्थापना दिवस पर PM नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बधाई व शुभकामनाएं दी हैं।

CRPF स्थापना दिवस : देश की सेवा में सदैव समर्पित व विश्‍व का सबसे बड़ा और पुराना बल केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के आज (27 जुलाई) को 82वें स्थापना दिवस के खास मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने CRPF के सभी कर्मियों को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं।

PM मोदी ने बधाई देते हुए ट्वीट में लिखा :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई देते हुए अपने ट्वीट में लिखा- CRPF के 82वें स्थापना दिवस पर CRPF के सभी कर्मियों को बधाई। CRPF हमारे राष्ट्र को सुरक्षित रखने में सबसे आगे है। बल के साहस और व्यवसायिकता की व्यापक रूप से प्रशंसा की जाती है। आने वाले वर्षों में CRPF और भी अधिक ऊंचाइयां हासिल करें।

शाह ने दी CRPF को शुभकामनाएं :

इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी स्थापना दिवस पर सीआरपीएफ को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि, सीआरपीएफ वीरता, साहस और बलिदान का पर्याय है। समय-समय पर सीआरपीएफ ने देश को गौरवान्वित किया है। कोरोना वायरस के दौरान समाज की सेवा के लिए उनका समर्पण अद्वितीय है। मैं अपने बहादुर जवानों और उनके परिवारों को शुभकामना देने के लिए लाखों भारतीयों के साथ शामिल हूं।

बता दें कि, मध्यप्रदेश के नीमच में 27 जुलाई 1939 को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की स्थापना हुई थी। तत्कालीन अंग्रेज शासनकाल में इसे 'क्राउन रिप्रेजेंटेटिव पुलिस' नाम दिया गया था। आजादी के बाद देश के पहले केंद्रीय गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल ने सेवाओं को कायम रखते हुए इसका नाम बदलकर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल रखा। 28 दिसंबर 1949 को सीआरपीएफ एक्ट बनाकर नामकरण की शुरूआत की गई।

सीआरपीएफ 82वें स्थापना दिवस पर कार्यक्रम :

बताया गया है कि, आज 27 जुलाई को सीआरपीएफ 82वें स्थापना दिवस पर दिल्ली के बैंड की धुन पर श्रद्धासुमन अर्पित कर बलिदानियों को श्रद्धांजलि दी जाएगी, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते जिले में लगाए गए लॉकडाउन के कारण मध्यप्रदेश के नीमच स्थित सीआरपीएफ परिसर में प्रतिवर्ष होने वाले परंपरागत कार्यक्रमों को वेबिनार (ऑनलाइन) माध्यम से आयोजित किया जाएगा, इस दौरान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधन होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co