कोरोना काल में प्रकृति आपदा मचा सकती है तबाही-मंडराया अम्फान का खतरा
कोरोना काल में प्रकृति आपदा मचा सकती है तबाही-मंडराया अम्फान का खतरा|Priyanka Sahu -RE
भारत

कोरोना काल में प्रकृति आपदा मचा सकती है तबाही-मंडराया अम्फान का खतरा

कोरोना काल के बीच अब बंगाल की खाड़ी में एक चक्रवाती तूफान 'अम्फान' का खतरा मंडरा रहा है, जो भयंकर तूफान में बदल सकता है और भारी तबाही मच सकती है, जिसके चलते कई जगहों पर अलर्ट जारी किया गया है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। एक घातक वायरस ने पूरी दुनिया को अपना शिकार बना लिया है और सब तहस-नहस कर रखा है। कोरोना संकटकाल के बीच मौसम का मिजाज बदला हुआ है, पलभर में कभी तेज धूप, तो कभी आंधी-बारिश का दौर शुरू हो जाता है। इन सबके बीच अब प्रकृति भी अपना क्रोध बरपा सकती है, क्‍योंकि अब बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान 'अम्फान' का खतरा मंडरा रहा है।

अगले 6 घंटे में भयंकर तूफान की आशंका :

इस बारे में गृह मंत्रालय द्वारा आज रविवार को बताया कि, चक्रवाती तूफान 'अम्फान' 20 मई को पश्चिम बंगाल के तट से टकराएगा और इसके भयंकर रूप लेने की आशंका है, फिलहाल यह दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी में सक्रिय है। अम्फान नजदीकी क्षेत्र से आगे बढ़ रहा है और बीते छह घंटे में 6 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से उत्तर-उत्तर पश्चिमी दिशा की ओर जा रहा है। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, चक्रवात के अगले छह घंटे में भयंकर तूफान में बदलने की आशंका है तथा फिर अगले 12 घंटे में यह और भयंकर रूप ले सकता है।

ओडिशा में भारी बारिश व चलेगी तेज आंधी :

भुवनेश्वर मौसम विभाग के डायरेक्टर एच.आर.विश्वास ने कहा, ''20 मई की दोपहर से शाम के बीच अम्फान चक्रवात के पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप और बांग्लादेश के हाथी द्वीप के बीच में उतरने की आशंका है, वहां चक्रवात भयानक रूप ले लेगा। इसके कारण ओडिशा में भारी बारिश होगी और तेज आंधी चलेगी।''

हाईअलर्ट किया जारी :

चक्रवात 'अम्‍फान' के खतरे के मद्देनजर बंगाल के तटवर्ती इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है, यहां ओडिशा, छत्‍तीसगढ़, बंगाल और आंध्र प्रदेश में हाई अलर्ट जारी किया गया है, साथ ही 5-6 दिन खराब मौसम की चेतावनी दी गई है। इसके अलावा मौसम कार्यालय द्वारा ये बताया गया कि, ''इस तूफान से 19 मई से राज्‍य के तटीय जिलों में भारी तेज बारिश होने की संभावना है और कम दवाब का क्षेत्र रविवार की शाम तक भयंकर च्रक्रवात में बदल सकता है।''

तेज रहेंगी हवा की रफ्तार :

मौसम विभाग ने यह भी बताया कि, पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों और इसके आसपास 45 से 55 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से हवा चलने और फिर 19 मई की दोपहर से 65 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलने का अनुमान है, हवा की गति 20 मई की सुबह 75 से 85 किलोमीटर प्रतिघंटा रहने की संभावना है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co