Cyclone storm warning issued for coastal local residents
Cyclone storm warning issued for coastal local residents|Social Media
भारत

तटवर्ती स्थानीय रहवासियों के लिए चक्रवाती तूफान की चेतावनी जारी

पश्चिम बंगाल के गांगेय क्षेत्र के साथ-साथ तटीय जिलों और ओडिशा के तटवर्ती स्थानों में रहने वाले लोगों को चक्रवाती तूफान अम्फान के बारे में रविवार को ताजा चेतावनी जारी की गई है।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस। पश्चिम बंगाल के गांगेय क्षेत्र के साथ-साथ तटीय जिलों और ओडिशा के तटवर्ती स्थानों में रहने वाले लोगों को चक्रवाती तूफान अम्फान के बारे में रविवार को ताजा चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग के आंकलन के अनुसार अगले 12 घंटों में बंगाल की दक्षिण पूर्वी खाड़ी में लगभग 1000 किलोमीटर की दूरी पर पारादीप के दक्षिण में चक्रवाती तूफान अम्फान खतरनाक रूप ले सकता है और अगले 24 घटों में इसकी वजह से स्थिति अति गंभीर बन सकती है।

पूर्वी नौसेना कमान (ईएनसी) ने विशाखापत्तनम में जहाजों को तैनात कर किसी भी स्थिति से निपटने के लिए उच्चस्तरीय तैयारियां पूरी कर ली हैं। सबसे प्रभावित क्षेत्रों में मेडिकल सुविधा प्रदान करने, मानवीय सहायता एवं आपदा राहत (एचएडीआर), उनकी निकासी और राहत सहायता प्रदान करने की तैयारी पूरी कर ली गई है।

मौसम विभाग ने कहा चक्रवाती तूफान अम्फान धीरे-धीरे तटीय इलाकों की और आगे बढ़ रहा है और उसकी दिशा ओडिशा और पश्चिम बंगाल की ओर है। अलीपुर मौसम विभाग ने कहा अम्फान चक्रवाती तूफान से व्यापक नुकसान होने की आशंका है और विशेष रूप से इस तूफान से तटीय क्षेत्रों को ज्यादा नुकसान हो सकता है। प्रशासन ने मछुआरों को अगले आदेश तक मछली पकड़ने के लिए समुद्र में नहीं जाने के निर्देश दिए हैं।

सुन्दरबन क्षेत्र से जारी एक रिपोर्ट में बताया गया है कि सरकारी तंत्र विशेष तौर पर तटीय दक्षिण और उत्तर 24 परगना और मेदिनापुर जिलों में पूरी तरह से अलर्ट है। पुलिस और सरकारी अधिकारी माइक के जरिये लोगों को चेतावनी जारी कर रहे हैं।

सुन्दरबन विकास मंत्री मंटूराम पाखिरा ने दक्षिण 24 परगना जिले के काकद्वीप में अधिकारियों के साथ बैठक की। श्री पाखिरा ने कहा तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को निकालने के लिए प्रबंध किये जा रहे हैं। सुन्दरबन पुलिस जिला अधीक्षक वैभव तिवारी ने कहा मछुआरों को समुद्र में मछली पकड़ने पर पांबदी लगा दी गई है। उन क्षेत्रों की पहचान की जा रही है जिनमें तटरक्षक और आपदा प्रबंधन दल तैनात किए जाएंगे।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार 18 मई की शाम से ओडिशा के तटीय इलाकों और उसके आसपास के कई क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ-साथ भारी बारिश हो सकती है। इसके अलावा 19 मई को अधिकतर स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है और 20 मई को ओडिशा के उत्तरी तटीय इलाकों में भारी बारिश हो सकती है।

पश्चिम बंगाल के गांगेय तटवर्ती जिलों में 19 मई को कई स्थानों में हल्की बारिश और 20 मई को तटवर्ती जिलों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है।

डिस्क्लेमर:

यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। सिर्फ शीर्षक में बदलाव किया गया है। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co