छत्तीसगढ़ में आफती बारिश से जीना मुहाल, बिछी ओले की चादर

छत्तीसगढ़ में आसमान से बरसी आफती बारिश, ओलावृष्टि और तेज हवा से ग्रामीण पूरी तरह बेबस नजर आए, घरों के आंगन में बर्फ की चादर बिछी और काफी नुकसान हुआ है।
छत्तीसगढ़ में आफती बारिश से जीना मुहाल, बिछी ओले की चादर
छत्तीसगढ़ में आफती बारिश से जीना मुहाल, बिछी ओले की चादरPriyanka Sahu -RE

राज एक्‍सप्रेस। देश में एक बीमारी की महामारी कोरोना वायरस के महासंकट के चलते पूरा देश लॉकडाउन को लेकर परेशान है। इसी बीच झमाझम बारिश ने लोगों की मुसीबत और अधिक बढ़ा दी है। हाल ही खबर सामने आ रही हैं कि, यहां छत्तीसगढ़ में झमाझम तेज बारिश और ओलावृष्टि से लोगों को बहुत नुकसान हुआ है।

आसमान से आफती से ग्रामीण बेबस :

आसमान से बरसी इस आफत के आगे ग्रामीण पूरी तरह बेबस नजर आए, क्‍योंकि छत्तीसगढ़ में बारिश, ओलावृष्टि और तेज हवा के साथ ही कई घंटों तक बिजली गुल रही। तेज हवा से कई जगहों पर पेड़-खंभों के टूटने व ओलावृष्टि इतनी ज्यादा हुई कि, घरों के आंगन में बर्फ की चादर बिछी। इसके साथ ही बारिश और ओलावृष्टि से किसानों की फसल को भी नुकसान हुआ हैं।

भारी बारिश और ओलावृष्टि से ग्रामीण इलाके में भारी तबाही की कई फोटोज भी सामने आई है कि, जिससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इस आफती बारिश से लोगों को कितना नुकसान हुआ होगा।

किसानों की फसल चौपट :

तेज बारिश और ओलावृष्टि के कारण किसानों की फसले भी चौपट हुई हैं, किसान इन दिनों गेहूं की फसल की कटाई कर रहे हैं और कई किसानों ने फसल को काटने के बाद उसे खलिहान में रखा हुआ है। ओलावृष्टि से इलाके में बने कच्चे घर बुरी तरह क्षतिग्रस्त होने के साथ ही कई घरों की छतें टूट गई और घरों के भीतर भारी मात्रा में ओले जमा हो गए।

पीड़ितों को मुआवजा देने का किया ऐलान :

इसके बाद ही छत्तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि, बारिश और ओलावृष्टि से हुए नुकसान के लिए पीड़ितों को मुआवजा दिया जाएगा। प्रदेश के रायगढ़, जशपुर, सूरजपुर जिले सहित सरगुजा, बिलासपुर संभाग के अन्य जिलों में आंधी-तूफान एवं ओलावृष्टि के संबंध में जिलों के जनप्रतिनिधियों एवं कलेक्टरों से चर्चा कर स्थिति की जानकारी ली है। आंधी-तूफान, ओलावृष्टि की वजह से जान-माल सहित फसलों के नुकसान का सर्वे एवं आंकलन कर पीड़ितों को तत्काल राहत पहुंचाने का निर्देश दिया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co