अब 2 से 18 साल तक के बच्‍चों की आई वैक्‍सीनेशन की बारी- DCGI ने दी मंजूरी
अब 2 से 18 साल तक के बच्‍चों की आई वैक्‍सीनेशन की बारी- DCGI ने दी मंजूरीSyed Dabeer Hussain - RE

अब 2 से 18 साल तक के बच्‍चों की आई वैक्‍सीनेशन की बारी- DCGI ने दी मंजूरी

DCGI द्वारा बच्चों के लिए भी वैक्‍सीनेशन की मंजूरी दे दी है और अब 2से 18 साल के बच्चों के टीकाकरण के लिए जल्द ही सरकार की ओर से भी जल्द ही गाइडलाइन जारी की जाएगी...

दिल्‍ली, भारत। देशभर में कोरोना वैक्सीन का बड़े स्‍तर पर वैक्सीनेशन अभियान चल रहे हैं और इस दौरान एक के बाद एक आयु वर्ग के हिसाब से लोगों को कोविड-19 का टीका लग रहा है। अब 2 से 18 साल तक के बच्‍चों की वैक्‍सीनेशन की बारी आई है, लंबे समय से अपने बच्चों को कोरोना वैक्सीन का इंतजार कर रहे अभिभावकों के लिए राहत की खबर है।

DCGI ने बच्चों के लिए भी टीकाकरण की मंजूरी दी :

देश के कोरोना वायरस की तीसरी लहर की अशंका के बीच ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया (DCGI) ने बच्चों के लिए भी वैक्‍सीनेशन की मंजूरी दे दी है, जिस तरह से अभी तक सभी को कोरोना की 2 वैक्‍सीन लग रही है, उसी तरह बच्चों को भी कोवाक्सिन के 2 टीके लगाए जाएंगे और अब 2 से 18 साल के बच्चों के वैक्‍सीनेशन के लिए केंद्र सरकार की ओर से भी जल्द ही गाइडलाइन जारी कर दी जाएगी।

बच्चों की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिलना बहुत बड़ी राहत की खबर है। तीसरी लहर में बच्चों के लिए सबसे ज्यादा खतरा जताया जा रहा था। इससे बच्चों को प्रोटेक्शन मिलेगी। बच्चों के साथ ही यह यह सुरक्षा चक्र बड़ों और बुजुर्गों का भी मजबूत हो जाएगा।

मेंदांता हॉस्पिटल के चेयरमैन नरेश त्रेहन

बच्चों पर तीन चरणों में ट्रायल पूरा :

बच्चों पर टीकाकरण की मंजूरी से पहले कोवैक्सिन को लंबे ट्रायल से गुजरना पड़ा था। भारत बायोटेक ने 18 से कम आयु के बच्चों पर सितंबर में दूसरे व तीसरे चरण का ट्रायल पूरा कर लिया गया था, क्लीनिकल ट्रायल में कोवाक्सिन का बच्चों पर कोई बुरा असर नहीं हुआ और यह वैक्सीन 78% तक असरदार साबित हुई थी। इसके बाद भारत बायोटेक की कोवैक्सिन को केंद्र की ओर से मंजूरी दे दी गई है। कोवैक्सिन देश की ऐसी पहली वैक्सीन बन गई है, जिसे बच्चों पर आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिली हो।

बताते चलें कि, देशभर में सबसे पहले हेल्थकेयर, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 साल से ऊपर के लोगों को कोविड वैक्सीन की डोज दी गई, इसके बाद 45 साल के लोगों को वैक्सीन की डोज दी गई। फिर 1 मई से 18 साल से अधिक आयु वर्ग के वयस्कों के बाद छोटे बच्‍चों की बारी आई है। हालांकि, देश की कई राज्‍यों की सरकारों ने कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए 'मुफ्त टीकाकरण अभियान' चलाया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.