महाराष्ट्र में बारिश से छाया तबाही का मंजर, 48 घंटे में हुईं इतनी मौतें
महाराष्ट्र में बारिश से छाया तबाही का मंजर, 48 घंटे में हुईं इतनी मौतेंSocial Media

महाराष्ट्र में बारिश से छाया तबाही का मंजर, 48 घंटे में हुईं इतनी मौतें

महाराष्ट्र में पिछले 48 घंटे से लगातार बारिश होने के चलते कई जिलों में तबाही का मंजर छा गया है। जिसके चलते कई लोगों की जान तक चली गई है।

मुंबई, महाराष्ट्र। आज भारत के राज्य कोरोना के साथ ही कई प्राकृतिक आपदाओं का भी सामना कर रहे हैं। इन आपदाओं के तहत भूकंप, बारिश और बाढ़ जैसे हालात शामिल हैं। इन दिनों कई राज्यों के साथ ही मायानगरी मुंबई समेत पूरे महाराष्ट्र भी भारी बारिश का सामना कर रही है। यहां, बारिश का हाल इस कदर खराब हो चुका है कि, तेज बारिश के कारण कई इलाकों में चारों तरफ पानी-पानी ही है। इतना ही नहीं कई इलाके जलमग्न हो चुके हैं। इतना ही नहीं पिछले 48 घंटे से लगातार बारिश होने के चलते कई जिलों में तबाही का मंजर छा गया है। जिसके चलते कई लोगों की जान तक चली गई है।

महाराष्ट्र में बारिश का हाल :

आपदा विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, महाराष्ट्र में मानसून के आने से लेकर अब तक भारी बारिश के कारण कई राज्यों के इलाकों में बाढ़ जैसा माहौल है इतना ही नहीं कई क्षेत्र जलमग्न हो चुके है। बीते 48 घंटों में यहां लगातार बारिश हो रही है। जिसके चलते 37 लोगों की जान जाने की आशंका जताई जा रही है। ज्यादातर इलाकों में हो रही इस मूसलाधार बारिश ने न केवल आम जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। हालांकि, आपदा विभाग द्वारा मौत के आंकड़े को लेकर फिलहाल कोई आधिकारिक पुष्टि नही की गई है, लेकिन आपदा विभाग ने बारिश की वजह से अब तक अलग अलग घटनाओं में 13 लोगो की मौत की पुष्टि जरूर की है बाकी आंकड़े की आशंका जताई गई है।

इन इलाकों का हाल है बेहाल :

महाराष्ट्र में पिछले काफी समाय से बारिश हो रही है। इसी का नतीजा है कि, कई इलाकों का हाल बहुत ही बुरा हो चुका है। इन इलाकों में मराठवाड़ा के औरंगाबाद, बीड, लातूर और उत्तर महाराष्ट्र के जलगांव, नासिक में बारिश से हाल बद से बदतर हो होता जा रहा हैं। जबकि, नासिक में चक्रवाती तूफ़ान गुलाब का भी असर देखने को मिला है। गोदावरी नदी भी अपने उफान पर है तो गंगापुर डैम लबालब भर चुका है। डैम भर जाने की वजह से पानी बाहर छोड़ दिया गया। इसका नतीजा यह हुआ कि, नासिक के कई इलाकों में बाढ़ आ गयी है। यहां तक की मंदिर तक पानी में डूब चुके हैं।

यवतमाल की नदी में बह गए 4 लोग:

महाराष्ट्र में हो रही बारिद के चलते ही यवतमाल के उमरखेड़ में मंगलवार की सुबह एक पुल पार करते समय राज्य परिवहन की बस के बह गई जिससे चार लोग नदी में बह गए और जिससे उनकी मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने बताया है कि, उनके द्वारा दी गई चेतावनी के बाद भी महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (MSRTC) नांदेड़-नागपुर बस बाढ़ के पानी में जलमग्न पुल को पार करने के लिए आगे बढ़ती गई और कुछ मीटर की दूरी पर ही बस पानी की तेज धाराओं में फंस गई इसी दौरान ड्राइवर ने नियंत्रण खो दिया और यात्रियों के साथ वाहन नदी में गिर गया। लगातार बारिश के चलते आज शाम तेज बहाव वाली नदी में फंसी बस को निकालने के लिए रस्सियों वाली एक क्रेन को नदी किनारे पर तैनात किया गया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.