'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह के निमंत्रण पर बोले अशोक गहलोत
'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह के निमंत्रण पर बोले अशोक गहलोतRaj Express

'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह के निमंत्रण पर बोले अशोक गहलोत- राम मंदिर सबकी आस्था का केंद्र है

Delhi News: अयोध्या में राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह के निमंत्रण पर राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने बयान जारी किया है।

हाइलाइट्स-

  • 'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह के निमंत्रण पर अशोक गहलोत ने बयान जारी किया है।

  • अशोक गहलोत ने कहा- राम मंदिर सबकी आस्था का केंद्र है।

  • अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी जोर-शोर से चल रही है।

दिल्ली, भारत। अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी जोर-शोर से चल रही है। 22 जनवरी को रामलला को गर्भ गृह में स्थापित किया जाएगा। हर राम भक्त को इस दिन का लंबे समय से इंतजार कर रहें हैं। इसी बीच राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह के निमंत्रण को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा। पूर्व सीएम ने कहा, भाजपा ने मुद्दा बनाया तभी तो ये दिक्कत आई है।

अशोक गहलोत ने कही यह बात:

अयोध्या में राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह के निमंत्रण पर राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने कहा कि, "भाजपा ने मुद्दा बनाया तभी तो ये दिक्कत आई है। राम मंदिर सबकी आस्था का केंद्र है, ये सुप्रीम कोर्ट ने कह दिया तो झगड़ा मिट गया था। सभी देशवासियों ने फैसले का स्वागत किया। सरकार को भी उसी प्रकार का व्यवहार करना चाहिए था। इसका राजनीतिकरण किया गया है। जब राम मंदिर सबका है जो शुरुआत से अगर सभी को साथ लेकर चलते तो ये नौबत नहीं आती। इसे RSS और भाजपा का कार्यक्रम बना दिया गया।"

आपको बता दें कि, राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह के निमंत्रण को कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी पहले ही ठुकरा चुकी है। अयोध्या में 22 जनवरी को होने जा रहे राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा पर देश के साथ साथ दुनियाभर की नजर हैं। इस दिन अयोध्या में भव्य और प्रतिष्ठित कार्यक्रम की तैयारियां तेजी से चल रही है। किसे निमंत्रण भेजा जाए और किसे नहीं, इसको लेकर पक्ष- विपक्ष के बीच खूब राजनीति हो रही है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co