ममता बनर्जी भ्रष्टाचार की जननी, वह संविधान में निर्धारित नियमों का पालन करने की ली गई शपथ भूल गई: भाजपा

भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता गौरव भाटिया ने कहा, चिंताजनक है कि ममता बनर्जी जो 'मां-माटी-मानुष' की बात करती है, आज उन्हीं के प्रदेश से Mother of All Scams यानी सबसे बड़ा भ्रष्टाचार सामने आ रहा है।
ममता बनर्जी भ्रष्टाचार की जननी, वह संविधान में निर्धारित नियमों का पालन करने की ली गई शपथ भूल गई: भाजपा
ममता बनर्जी भ्रष्टाचार की जननी, वह संविधान में निर्धारित नियमों का पालन करने की ली गई शपथ भूल गई: भाजपाRaj Express
Submitted By:
Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता गौरव भाटिया ने नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस की

  • भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता गौरव भाटिया ने ममता बनर्जी पर बोला हमला

  • ममता बनर्जी के प्रदेश से Mother of All Scams यानी सबसे बड़ा भ्रष्टाचार सामने आ रहा है: गौरव भाटिया

दिल्‍ली, भारत। चिंताजनक है कि, ममता बनर्जी जो 'मां-माटी-मानुष' की बात करती है, आज उन्हीं के प्रदेश से Mother of All Scams यानी सबसे बड़ा भ्रष्टाचार सामने आ रहा है। यह बात भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता गौरव भाटिया ने आज बुधवार को नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही।

भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता गौरव भाटिया ने कहा- इस देश में दो विचारधाराओं की लड़ाई चल रही है। एक तरफ ईमानदार और जनता के प्रति समर्पित केंद्र सरकार है, जिसका एक ही लक्ष्य है कि भारत को भ्रष्टाचार से मुक्त करेंगे। ये जो CAG रिपोर्ट सामने आई है, ये स्पष्ट कर देती है कि I.N.D.I अलायंस का हर घटक दल भारत की जनता और भारत के मजबूत लोकतंत्र के खिलाफ काम कर रहा है। ये चिंताजनक है कि ममता बनर्जी जो 'मां-माटी-मानुष' की बात करती है, आज उन्हीं के प्रदेश से Mother of All Scams यानी सबसे बड़ा भ्रष्टाचार सामने आ रहा है।

ममता बनर्जी भ्रष्टाचार की जननी हैं। वह एक भ्रष्ट नेता हैं जो संविधान में निर्धारित नियमों और प्रक्रियाओं का पालन करने की ली गई शपथ को भूल गई हैं। जब भी राज्य के खजाने से कोई खर्च किया जाता है, तो इसका प्रमाण पत्र देना अनिवार्य है कि इसका उपयोग कैसे किया गया ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सार्वजनिक धन का उपयोग जनता के लिए किया गया है और सीएम ने अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी पूरी की है।

भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता गौरव भाटिया

आगे उन्‍होंने कहा, रिपोर्ट में सीएजी ने साफ कहा है कि उपयोगिता प्रमाणपत्र हो, बेहिसाब आकस्मिक खर्च हो या निजी जमा का हिसाब-किताब, हर जगह पारदर्शिता की कमी है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co