स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस की नई इमारत का उद्घाटन कर बोले CM केजरीवाल- शिक्षा से ही इंडिया बनेगा नं.1

CM केजरीवाल ने कहा- आज सरकारी स्कूल के बच्चे कॉलर ऊँची करके कहते हैं कि मैं सरकारी स्कूल में पढ़ता हूँ सरकारी स्कूल के बच्चे doctors, engineers बन रहे हैं बच्चों को अच्छी शिक्षा देना पुण्य का काम है।
स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस की नई इमारत का उद्घाटन
स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस की नई इमारत का उद्घाटनRaj Express
Submitted By:
Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस की नई इमारत का उद्घाटन

  • CM अरविंद केजरीवाल ने कहा- शिक्षा, स्वास्थ्य से ही इंडिया नं.1 बनेगा

  • गरीब बच्चों को अच्छी शिक्षा देना सबसे बड़ा पुण्य का काम है: CM अरविंद केजरीवाल

दिल्ली, भारत। दिल्ली के पश्चिम विहार में आज मंगलवार को मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस की नई इमारत का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्‍होंने कार्यक्रम को संबोधित भी किया और कहा, शिक्षा, स्वास्थ्य से ही इंडिया नं.1 बनेगा।

मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा- पहले सरकारी स्कूलों के बच्चों में हीन भावना होती थी आज सरकारी स्कूल के बच्चे कॉलर ऊँची करके कहते हैं कि मैं सरकारी स्कूल में पढ़ता हूँ सरकारी स्कूल के बच्चे doctors, engineers बन रहे हैं बच्चों को अच्छी शिक्षा देना पुण्य का काम है। शिक्षा स्वास्थ्य से ही इंडिया नं. 1 बनेगा। शिक्षा स्वास्थ्य पर खर्च-

  • केंद्र सरकार - 4%

  • दिल्ली सरकार - 40%

गरीब बच्चों को अच्छी शिक्षा देना सबसे बड़ा पुण्य का काम है, जब मेरी मौत आएगी तो मुझे इस बात की संतुष्टि रहेगी कि मैंने लाखों बच्चों को अच्छी शिक्षा देने का इंतज़ाम किया

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल

तो वहीं आतिशी ने कहा, मैं दिल्ली के बहुत बड़े नामी गिरामी Pvt. School से पढ़ी हूं, पर उसकी बिल्डिंग भी RPVV A3 Pashchim Vihar के सामने नहीं टिकती। इस शानदार स्कूल बिल्डिंग को बनाने वाली PWD Team के लिए तालियां। ये आलीशान सरकारी स्कूल देखकर हमें पुराना समय भूलना नहीं चाहिए, जब इन्हीं सरकारी स्कूलों में पढ़ते बच्चों को देखकर आंखों में आसूं आ जाते थे। बच्चों में हीन भावना होती थी, उन्हें लगता था काश हमारे माता पिता के पास पैसे होते तो हम भी बड़े बड़े pvt स्कूलों में पढ़ते।

  • 1947 से 2015 दिल्ली के सरकारी स्कूलों में कमरे : 24,000, CM अरविंद केजरीवाल के आने के बाद, मात्र 9 साल में— 20,000 नए स्कूल कमरे बने वो ज़माना गया जब Pvt स्कूलों के बाहर लाइनें लगती थीं अब सरकारी स्कूलों के सामने लगती हैं। ये है केजरीवाल की शिक्षा क्रांति

  • किसी भी परिवार में मेहनत इसलिए की जाती है कि अपने बच्चों को खुद से बेहतर जिंदगी दी जाए, बेहतरीन शिक्षा-स्वास्थ्य दिया जाए। दिल्ली वालों का सौभाग्य है कि उनके CM अरविंद केजरीवाल ऐसे हैं जो जी जान से काम करते हैं — बच्चों का भविष्य उज्ज्वल करते हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co