पराली जलाने पर SC की टिप्पणी पर पर्यावरण मंत्री गोपाल राय का बयान- पंजाब सरकार ने काफी काम किया है

दिल्ली, भारत। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने बयान देते हुए कहा है कि, हमें उम्मीद है कि अगले साल तक इसमें बड़े पैमाने पर गिरावट दर्ज की जाएगी।
पर्यावरण मंत्री गोपाल राय का बयान
पर्यावरण मंत्री गोपाल राय का बयानSocial Media
Submitted By:
Priyanka Yadav

हाइलाइट्स :

  • दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय का बयान

  • गोपाल राय ने कहा- पंजाब सरकार ने काफी काम किया

  • हरियाणा सरकार इस पर 10 सालों से काम कर रही है

  • हमें उम्मीद है कि अगले साल तक इसमें बड़े पैमाने पर गिरावट दर्ज की जाएगी

दिल्ली, भारत। पराली जलाने पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी पर दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) का बयान सामने आया है, पर्यावरण मंत्री गोपाल राय हुए कहा है कि, हमें उम्मीद है कि अगले साल तक इसमें बड़े पैमाने पर गिरावट दर्ज की जाएगी।

पंजाब सरकार ने काफी काम किया: गोपाल राय

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि, पंजाब सरकार ने काफी काम किया है। एक साल के प्रयास में 50% से ज्यादा पराली कम करना सामान्य बात नहीं है। हरियाणा सरकार इस पर 10 सालों से काम कर रही है।

दिल्ली और एनसीआर में बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट की प्रतिक्रिया

दरअसल, दिल्ली और एनसीआर में बढ़ रहे प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट (SC) की प्रतिक्रिया आई है, इसमें सुप्रीम कोर्ट की तरफ से पंजाब सरकार को कहा गया कि वो हरियाणा सरकार से सीखे की कैसे पराली जलाने से किसानों को रोका जाए है।

बता दें, हरियाणा में पराली जलाने के मामलों में कमी आई है। हरियाणा में किसानों को पराली जलाने से रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने मनोहर लाल खट्टर सरकार की पीठ थपथपाई है। वही सुप्रीम कोर्ट ने उन किसानों को चेताया है जो पराली जलाने से बाज नहीं आ रहे। सुप्रीम कोर्ट ने पराली जलाने वाले किसानों के प्रति सख्त रुख अपनाने को कहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने सुझाया कि केंद्र सरकार ऐसे किसानों से फसल खरीदना बंद कर दे ताकि उन्‍हें न्यूनतम समर्थन मूल्य का फायदा न मिल सके। बेहद सख्त लहजे में अदालत ने कहा- पराली जलाने वालों को आर्थिक लाभ क्यों दिया जाए, FIR, जुर्माने के साथ MSP से वंचित किया जाए।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co