लोकसभा में बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- 2024 के चुनाव के बाद दर्शक दीर्घा में दिखेगा विपक्ष

PM मोदी ने कहा- मैं विपक्ष के संकल्प की सराहना करता हूं। उनके भाषण के एक-एक बात से मेरा और देश का विश्वास पक्का हो गया है कि इन्होंने लंबे अरसे तक विपक्ष में रहने का संकल्प ले लिया है।
लोकसभा में बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- 2024 के चुनाव के बाद दर्शक दीर्घा में दिखेगा विपक्ष
लोकसभा में बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- 2024 के चुनाव के बाद दर्शक दीर्घा में दिखेगा विपक्षRaj Express
Submitted By:
Priyanka Sahu

हाइलाइट्स :

  • लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर PM नरेंद्र मोदी की प्रतिक्रिया

  • PM मोदी ने कहा, इन्होंने अरसे तक विपक्ष में रहने का संकल्प ले लिया है

  • आज विपक्ष की जो हालत है, इसकी सबसे बड़ी दोषी कांग्रेस पार्टी है: PM मोदी

दिल्‍ली, भारत। लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर आज सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी प्रतिक्रिया दी। इस दौरान उन्‍होंने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। PM मोदी ने कहा, "संसद के इस नए भवन में जब राष्ट्रपति हमें संबोधित करने आई और जिस गौरव और सम्मान के साथ सेंगोल और पूरे जुलूस का नेतृत्व किया, हम सब उनके पीछे-पीछे चल रहे थे। नए सदन में ये नई परंपरा भारत के आजादी के उस पवित्र पल का प्रतिबिंब जब साक्षी बनता है तो लोकतंत्र की गरिमा कई गुना ऊपर चली जाती है।"

PM मोदी ने कहा- मैं विपक्ष के संकल्प की सराहना करता हूं। उनके भाषण के एक-एक बात से मेरा और देश का विश्वास पक्का हो गया है कि इन्होंने लंबे अरसे तक विपक्ष में रहने का संकल्प ले लिया है। आपलोग जिस तरह इन दिनों मेहनत कर रहे हैं, मैं पक्का मानता हूं जनता जनार्दन आपको जरूर आशीर्वाद देगी और आप जिस ऊंचाई पर है उससे भी अधिक ऊंचाई पर पहुंचेंगे और अगले चुनाव में दर्शक दीर्घा में दिखेंगे। वे विपक्ष के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभाने में नाकाम रहे। मैंने हमेशा कहा है कि देश को एक अच्छे विपक्ष की जरूरत है। मुझे नजर आ रहा है कि आपके(विपक्ष के) कई सदस्य चुनावी मैदान में उतरने का साहस खो बैठे हैं। मेरी जानकारी के अनुसार, अनेक जनप्रतिनिधि अपनी विधानसभा सीटें बदलने की तलाश में हैं। कईयों की इच्छा अब लोकसभा की जगह राज्यसभा में जाने की है। वे (विपक्ष) विपक्ष के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभाने में विफल रहे। मैंने हमेशा कहा है कि देश को एक अच्छे विपक्ष की जरूरत है।

आज विपक्ष की जो हालत है, इसकी सबसे बड़ी दोषी कांग्रेस पार्टी है। कांग्रेस को एक अच्छा विपक्ष बनने का बहुत बड़ा अवसर मिला था, लेकिन 10 वर्षों में ये उस दायित्व को निभाने में भी विफल हो गए। उसी उत्पाद को दोबारा लॉन्च करने के चक्कर में कांग्रेस पार्टी की दुकान बंद होने की कगार पर है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

PM मोदी द्वारा कही गई बातें-

  • शासन के 10 वर्षों के अनुभव के आधार पर, आज की मजबूत अर्थव्यवस्था और आज भारत जिस तीव्र गति से प्रगति कर रहा है, उसे देखते हुए मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि हमारे तीसरे कार्यकाल में भारत तीसरी सबसे बड़ी आर्थिक शक्ति होगा। ये मोदी की गारंटी है।

  • नौ दिन चले, ढाई कोस... ये कहावत पूरी तरह कांग्रेस को परिभाषित करती है। कांग्रेस की सुस्त रफ्तार का कोई मुकाबला नहीं है।

  • आज देश में जिस रफ्तार के साथ काम हो रहा है, कांग्रेस सरकार इस रफ्तार की कल्पना भी नहीं कर सकती। हमने गरीबों के लिए 4 करोड़ घर बनाए इसमें से 80 लाख पक्के मकान शहरी गरीबों के लिए बने। अगर कांग्रेस की रफ्तार से काम हुआ होता तो इतना काम होने में 100 साल लगते, 100 पीढ़ियां बीत जातीं।

  • 10 वर्ष में 40 हजार किलोमीटर रेलने ट्रैक का विद्युतीकरण हुआ है। अगर कांग्रेस की रफ्तार से देश चलता तो इस काम को करने में 80 साल लग जाते। हमने 17 करोड़ से अधिक गैस कनेक्शन दिए हैं, अगर कांग्रेस की रफ्तार से चलते तो इस काम को करने में और 60 साल लग जाते हैं। तीन पीढ़ियां धुएं में खाना बनाने-बनाते गुजर जाती।

  • 2014 में जब अंतरिम बजट पेश किया गया था तब वित्त मंत्री ने कहा था कि जीडीपी के हिसाब से भारत 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और ये गर्व की बात है. उन्होंने आगे कहा कि अगले तीन दशकों में भारत तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा. इसका मतलब है कि उन्हें उम्मीद थी कि 2044 तक भारत तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। यह उनका दृष्टिकोण था।

  • कांग्रेस की जो मानसिकता है, जिसका देश को बहुत नुकसान हुआ है। कांग्रेस ने देश के सामर्थ्य पर कभी विश्वास नहीं किया, वो अपने आप को शासक मानते रहे और जनता-जनार्दन को कमतर आंकते गए।

  • नेहरू जी ने लाल किले से कहा था- हिंदुस्तान में काफी मेहनत करने की आदत आमतौर से नहीं है। हम इतना काम नहीं करते हैं... जितना यूरोप, जापान, चीन, रुस और अमेरिका वाले करते हैं। नेहरू जी की भारतीयों के प्रति सोच थी कि भारतीय आलसी हैं।

  • इंदिरा जी की सोच भी नेहरू जी से ज्यादा अलग नहीं थी। उन्होंने लाल किले से कहा था- दुर्भाग्यवश हमारी आदत ये है कि जब कोई शुभ काम पूरा होने को होता है तो हम आत्मसंतुष्टि की भावना से ग्रस्त हो जाते हैं और जब कोई कठिनाई आ जाती है तो हम नाउम्मीद हो जाते हैं।

  • कांग्रेस का विश्वास हमेशा एक परिवार पर रहा है। एक परिवार के आगे न कुछ सोच सकते हैं और न ही कुछ देख सकते हैं। हमने अपने पहले कार्यकाल में यूपीए के समय के जो गड्ढे थे, उस गड्ढे को भरने काफी समय और शक्ति लगाई। हमने अपने दूसरे कार्यकाल में नए भारत की नींव रखी और तीसरे कार्यकाल में हम विकसित भारत के निर्माण को नई गति देंगे।

  • हमारी सरकार के तीसरे कार्यकाल के दिन दूर नहीं हैं। केवल 100-125 दिन बचे हैं...

    अबकी बार, 400 पार (इस बार हम 400 सीटों का आंकड़ा पार करने जा रहे हैं)

    आने वाले चुनाव में भाजपा को निश्चित तौर पर 370 सीटें मिलेंगी। भगवान राम न सिर्फ अपने घर लौटे, बल्कि एक ऐसे मंदिर का निर्माण हुआ, जो भारत की महान संस्कृति-परंपरा को नई ऊर्जा देता रहेगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co