आई श्री सोनल मां जन्म शताब्दी समारोह
आई श्री सोनल मां जन्म शताब्दी समारोहRE

आई श्री सोनल मां जन्म शताब्दी समारोह को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया संबोधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जूनागढ़ में ‘आई श्री सोनल मां’ के जन्म शताब्दी समारोह को संबोधित किया।

हाइलाइट्स-

  • जूनागढ़ में 'आई श्री सोनल मां' के जन्म शताब्दी समारोह आज।

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'आई श्री' सोनल मां जन्म शताब्दी समारोह को किया संबोधित।

  • नरेंद्र मोदी ने कहा- सोनल मां आधूनिक युग के लिए प्रकाश स्तंभ की तरह थी।

दिल्ली, भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जूनागढ़ में ‘आई श्री सोनल मां’ के जन्म शताब्दी समारोह को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि, "सोनल मां आधूनिक युग के लिए प्रकाश स्तंभ की तरह थी। सोनल मा का पूरा जीवन जन कल्याण के लिए समर्पित रहा।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कही यह बात:

आई श्री सोनल मां जन्म शताब्दी समारोह को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित करते हुए कहा कि, "मढ़राधाम, चारण समाज के लिए श्रद्धा का केंद्र है, शक्ति का केंद्र है, संस्कार-परंपरा का केंद्र है। मैं आई श्री सोनल मां के श्री चरणों में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाता हूं, उन्हें प्रणाम करता हूं। सौराष्ट्र की इस सनातन संत परंपरा में श्री सोनल मां आधुनिक युग के लिए प्रकाश स्तंभ की तरह थीं। उनकी आध्यात्मिक ऊर्जा, उनकी मानवीय शिक्षाएं, उनकी तपस्या, इससे उनके व्यक्तित्व में एक अद्भुत दैवीय आकर्षण पैदा होता था। जिसकी अनुभूति आज भी जूनागढ़ और मढ़रा के सोनलधाम में की जा सकती है।"

उन्होंने कहा कि, "श्री सोनल मां ने समाज में शिक्षा के लिए अद्भुत काम किया। उन्होंने, व्यसन और नशे के अंधकार से समाज को निकाल कर नई रोशनी दी। सोनल मां, समाज को कुरीतियों से बचाने के लिए निरंतर काम करती रहीं। श्री सोनल मां देश की एकता और अखंडता की एक मजबूत प्रहरी थीं। भारत विभाजन के समय जब जूनागढ़ को तोड़ने की साजिशें चल रही थीं, तो उसके खिलाफ श्री सोनल मां, चंडी की तरह उठ खड़ी हुई थीं।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, "सोनल मां ने समाज में शिक्षा के लिए अद्भुत काम किया। उन्होंने, व्यसन और नशे के अंधकार से समाज को निकाल कर नई रोशनी दी। सोनल मां, समाज को कुरीतियों से बचाने के लिए निरंतर काम करती रहीं।"

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co