Sahitya Award Academy 2023 Announced
Sahitya Award Academy 2023 AnnouncedRaj Express

साहित्य पुरस्कार अकादमी 2023- हिन्दी संजीव , अंग्रेजी नीलम शरण गौर,उर्दू के लिए सादिक़ा नवाब सहर को पुरस्कार

Sahitya Award Academy 2023 Announced: साहित्यकारों को पुरस्कार स्वरूप एक उत्कीर्ण ताम्रफलक, शॉल और एक लाख रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। पुरस्कार अर्पण समारोह 12 मार्च 2024 को होगा।

हाइलाइट्स :

  • 24 भारतीय भाषाओं के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार, 2023 घोषित किए गए।

  • पुरस्कार 2017 से 31 दिसंबर 2021 के दौरान प्रकाशित पुस्तकों पर दिए गए हैं।

  • त्रि-सदस्यीय निर्णायक मंडल ने चयन-प्रक्रिया का पालन करते हुए किया चयन ।

Sahitya Award Academy 2023 Announced : दिल्ली। साहित्य अकादमी पुरस्कार 2023 की घोषणा बुधवार को की गई है, जिसमें हिन्दी के लिए संजीव (राम संजीवन प्रसाद ) , अंग्रेजी नीलम शरण गौर और उर्दू के लिए सादिक़ा नवाब सहर को पुरस्कार दिए जाएगे। साहित्य अकादमी के सचिव डॉ. के. श्रीनिवासराव ने बताया कि सभी 24 भारतीय भाषाओं के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार, 2023 घोषित किए गए हैं, जिनमें नौ कविता-संग्रह, छह उपन्यास, पांच कहानी-संग्रह, तीन निबंध, तथा एक आलोचना की पुस्तक शामिल हैं। साहित्यकारों को पुरस्कार स्वरूप एक उत्कीर्ण ताम्रफलक, शॉल और एक लाख रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। पुरस्कार अर्पण समारोह 12 मार्च 2024 को होगा।

पुरस्कारों की अनुशंसा 24 भारतीय भाषाओं की निर्णायक समिति ने की है तथा साहित्य अकादमी के अध्यक्ष माधव कौशिक की अध्यक्षता में अकादमी के कार्यकारी मंडल की बैठक में इन्हें अनुमोदित किया गया है। हिन्दी के लिए संजीव (मुझे पहचानो, उपन्यास), अंग्रेजी के लिए नीलम शरण गौर (रेक्युम इन रागा जानकी,उपन्यास), पंजाबी के लिए स्वर्णजीत सवी (मन दी चिप, कविता-संग्रह) और उर्दू के लिए सादिक़ा नवाब सहर (राजदेव की अमराई, उपन्यास) को पुरस्कृत करने की घोषणा की गई ।

कविता के लिए कवि विजय वर्मा (डोगरी), विनोद जोशी (गुजराती), मंशूर बनिहाली (कश्मीरी), सोरोख्खैबम गंभिनी (मणिपुरी), आशुतोष परिडा (ओडि़आ), स्वर्णजीत सवी (पंजाबी), गजेन्द्र सिंह राजपुरोहित (राजस्थानी), अरुण रंजन मिश्र (संस्कृत), विनोद आसुदानी (सिन्धी ) हैं। उपन्यास के पुरस्कृत लेखक स्वपनमय चक्रबर्ती (बांग्ला ), कृष्णात खोत (मराठी), राजशेखरन (देवीभारती) (तमिल) है। कहानी के लिए प्रणवज्योति डेका (असमिया), नंदेश्वर दैमारि (बोडो), प्रकाश एस. पर्येंकार (कोंकणी), तारासीन बासकी (संताली) और टी. पतंजलि शास्त्री (तेलुगु) शामिल है। निबंध के लिए लेखक लक्ष्मीशा तोल्पडि (कन्नड), बासुकीनाथ झा (मैथिली), युद्धवीर राणा (नेपाली) है और आलोचना के लिए ई.वी. रामकृृष्णन (मलयालम) का चयन किया गया है।

श्रीनिवासराव ने कहा कि सभी साहित्यकारों को पुरस्कार स्वरूप एक उत्कीर्ण ताम्रफलक, शॉल और एक लाख रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। पुरस्कार अर्पण समारोह अगले साल 12 मार्च को होगा। उन्होंने कहा कि इन पुस्तकों को संबंधित भाषा के त्रि-सदस्यीय निर्णायक मंडल ने निर्धारित चयन-प्रक्रिया का पालन करते हुए पुरस्कार के लिए चुना है। नियमानुसार कार्यकारी मंडल ने निर्णायकों के बहुमत अथवा सर्वसम्मति के आधार पर चयनित पुस्तकों के लिए पुरस्कारों की घोषणा की है। ये पुरस्कार, पुरस्कार-वर्ष से पिछले पाँच वर्ष यानी, एक जनवरी 2017 से 31 दिसंबर 2021 के दौरान पहली बार प्रकाशित पुस्तकों पर दिए गए हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co