Raj Express
www.rajexpress.co
प्रज्ञा ठाकुर
प्रज्ञा ठाकुर|Deepika Pal - RE
भारत

कांग्रेस के हंगामे के बाद बीजेपी ने लिया प्रज्ञा ठाकुर पर एक्शन

भोपाल, मध्यप्रदेश: भोपाल सांसद ने लोकसभा में दिया विवादित बयान, विपक्ष ने किया हंगामा, बीजेपी ने लिया प्रज्ञा ठाकुर पर एक्शन।

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर के बयान ने एक बार फिर हंगामा खड़ा कर दिया है। दरअसल लोकसभा में चल रही संसदीय कार्यवाही में गांधी जी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताते हुए तर्क रखा था, जिससे विपक्ष ने सांसद प्रज्ञा के बयान पर आपत्ति जताकर हंगामा खड़ा कर दिया।

भाजपा सांसद ने की विवादित टिप्पणी :

दरअसल लोकसभा में एसपीजी संशोधन बिल को लेकर दोनों पक्षों में वाद-विवाद चल रहा है था जिस पर डीएमके सांसद ए राजा ने अपना पक्ष रखते हुए गोडसे का संबोधन करते हुए सवाल किया कि, उसने महात्मा गांधी की हत्या क्यों की उसी दौरान सांसद प्रज्ञा ने बयान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि, 'देशभक्त का उदाहरण ना दिया जाए।' जिसके बाद उनकी इस टिप्पणी पर विपक्ष ने हंगामा खड़ा कर दिया।

हालांकि, हंगामे को बढ़ते देख संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने भाजपा सांसद को बैठने का इशारा किया और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कांग्रेस सदस्यों से बैठने की अपील की।

सांसद प्रज्ञा पहले भी दे चुकीं हैं विवादित बयान :

बता दें कि, इस वाकिए से पहले भी बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को लेकर विवादित बयान दे चुकी हैं जिसमें उनके द्वारा गोडसे को देशभक्त करार दिया गया था। जिससे विपक्ष के अलावा पक्ष में भी हंगामा मच चुका है।

मामले पर कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना :

सांसद प्रज्ञा ठाकुर के बयान ने सियासी तूल पकड़ लिया है जिस पर अब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और बीजेपी पर निशाना साधा और कहा कि, "मैं उस महिला के बारे में कुछ कहना नहीं चाहता हूं, यह आरएसएस और भाजपा की आत्मा में है, वह कहीं ना कहीं से निकलेगा। वह गांधी जी की कितनी भी पूजा कर ले, उनकी आत्मा (आरएसएस) की है, मैं अपना समय खराब नहीं करना चाहता, उनके ऊपर जल्द एक्शन लिया जाए।"

संसदीय समिति से हटाने का सुनाया फरमान :

इस मामले पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान के बाद कार्यवाही की जा रही है जिसके तहत कार्यवाही करते हुए संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की रक्षा समिति के सदस्य पद से हटाया साथ ही संसद में सत्र के दौरान होने वाले बीजेपी संसदीय दल की बैठकों में भी साध्वी प्रज्ञा को शामिल नहीं करने का फरमान सुनाया गया है।

खबर आ रही हैं कि, साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ पार्टी की अनुशासन समिति बड़ी कार्यवाही कर सकती है, साथ ही उन्हें पार्टी से निष्कासित भी किया जा सकता है। बीजेपी के कार्यवाहक अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि संसद में कल का उनके द्वारा दिया गया बयान निंदनीय है। बीजेपी कभी भी इस तरह के बयान या विचारधारा का समर्थन नहीं करती है।

मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत कैबिनेट मंत्रियों ने बीजेपी पर साधा निशाना :

इस मामले पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि, भाजपा बताए कि वे गांधी जी के साथ हैं या अपनी कुर्सी के साथ है। लोकतंत्र के पवित्र मंदिर संसद में सांसद प्रज्ञा के विवादित बयान पर मोदी जी सांसद प्रज्ञा को दिल से कभी माफ नहीं करने की बात करते हैं लेकिन उन्हें इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते समूचे देश से माफी मांगना चाहिए।

वहीं इस मामले पर कैबिनेट मंत्रियों ने बयान देते हुए कहा कि, लोकसभा स्पीकर को सांसद प्रज्ञा की सदस्यता लोकसभा से खत्म कर देना चाहिए, प्रधानमंत्री मोदी को उन्हें पार्टी से निष्कासित कर देना चाहिए। इस प्रकार के बयान से प्रज्ञा की सोच देश के सामने आकर खड़ी हो गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।