NDA की तरफ से राष्‍ट्रपति पद की उम्‍मीदवार चुने जाने पर द्रौपदी मुर्मू ने दी प्रतिक्रिया
Draupadi MurmuSocial Media

NDA की तरफ से राष्‍ट्रपति पद की उम्‍मीदवार चुने जाने पर द्रौपदी मुर्मू ने दी प्रतिक्रिया

भारतीय जनता पार्टी ने बीते दिन राष्ट्रपति (President) चुनाव के लिए एनडीए के उम्मीदवार का ऐलान कर दिया। इसके लिए एनडीए ने आदिवासी नेता द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को चुना है।

नई दिल्ली, भारत। भारतीय जनता पार्टी ने बीते दिन राष्ट्रपति (President) चुनाव के लिए एनडीए के उम्मीदवार का ऐलान कर दिया। इसके लिए एनडीए (NDA) ने 64 साल की आदिवासी नेता द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) का चुनाव किया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर इस बात की जानकारी दी।

द्रौपदी मुर्मू ने जगन्नाथ मंदिर में की पूजा-अर्चना:

NDA की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने आज ओडिसा के रायरंगपुर में स्थित जगन्नाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की।

जानकारी के अनुसार, द्रौपदी मुर्मू को NDA की तरफ से राष्‍ट्रपति पद की उम्‍मीदवार चुने जाने के बाद उन्हें जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई। एक अधिकारी ने इस बारे में बताया कि, केंद्र सरकार आज से NDA की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (CRPF) के जवानों द्वारा 24 घंटे जेड प्लस(Z+) श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई है।

द्रौपदी मुर्मू ने दी प्रतिक्रिया:

खुद को एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार चुने जाने पर द्रौपदी मुर्मू ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा, "मैं आश्चर्यचकित हूं और मुझे विश्वास नहीं हो रहा है, मैं आप सभी की आभारी हूं और ज्यादा बोलने की इच्छा नहीं है। संविधान में राष्ट्रपति की जो भी शक्तियां हैं मैं उसके अनुसार काम करूंगी।"

द्रौपदी मुर्मू ने इसके आगे बताया कि, "उन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं थी कि उन्हें राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार के तौर पर एनडीए की तरफ से चुना गया है। मुर्मू ने कहा, "मुझे आप सभी से ये (राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में चुने जाने की) खबर मिली और मैं आप सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद करती हूं।"

कौन है द्रौपदी मुर्मू:

वहीं, अगर द्रौपदी मुर्मू के बारे में बात करे, तो द्रौपदी मुर्मू का जन्म ओडिशा आदिवासी जिले मयूरभंज के रायरंगपुर गांव में हुआ है। दो बार विधायक रह चुकी द्रौपदी ने अपने करियर की शुरुआत टीचर के रूप में की। उन्होंने ओडिशा के सिंचाई विभाग में भी काम किया है। बता दें, मुर्मू 18 मई 2015 से 12 जुलाई 2021 तक झारखंड के राज्यपाल पद पर रहीं।

द्रौपदी मुर्मू ओडिशा की पहली महिला आदिवासी नेता हैं, जिन्हें राज्यपाल नियुक्त किया गया। मुर्मू साल 2013 में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में एसटी मोर्चे की सदस्य रहीं। वहीं, उन्होंने 10 अप्रैल 2015 तक यह पद संभाला था। वह 2013 में ओडिशा के मयूरभंज की जिला अध्यक्ष निर्वाचित हुईं थी। वह 2010 में भी जिला अध्यक्ष निर्वाचित हुई थीं। वहीं, अब मुर्मू को बतौर एनडीए की राष्ट्रपति पद के लिए चुना गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co