जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के इलाकों में महसूस किए गए भूकंप के झटके
जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के इलाकों में महसूस किए गए भूकंप के झटकेSocial Media

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के इलाकों में महसूस किए गए भूकंप के झटके

आज जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के इलाकों से भी भूकंप के झटके महसूस किए जाने की खबर सामने आई है। हालांकि, भूकंप के झटकों से फ़िलहाल किसी प्रकार के नुकसान की कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

जम्मू-कश्मीर। जहां, देश अभी भी उतार चढ़ाव के साथ कोरोना के मामलों का सामना कर रहा है। वहीं, भारत के कुछ राज्य भूंकप के झटकों को भी झेल रहे हैं। हाल ही में भारत के कई राज्यों से भूकंप के झटके महसूस होने की खबरें सामने आई हैं। वहीं, आज जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के इलाकों से भी भूकंप के झटके महसूस किए जाने की खबर सामने आई है। हालांकि, भूकंप के यह झटके बहुत तेज नहीं थे। इसी के चलते भूकंप के झटकों से फ़िलहाल किसी प्रकार के नुकसान की कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

भूकंप की तीव्रता :

देश के राज्यों में भूकंप के चलते लोगों की मुश्किलें व डर और अधिक बढ़ रहा है। इसी बीच आज जम्मू-कश्मीर और लद्दाख से भी भूकंप की खबरें सामने आयी हैं। जम्मू-कश्मीर में भूकंप के यह झटके यहां आज सुबह 7 बजकर 39 मिनट पर महसूस किये गए हैं। जबकि, लद्दाख में भूकंप के झटके महसूस रात के 10 बजे महसूस किए गए थे। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र (नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी -NCS) के अनुसार, रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 3.7 मापी गयी। इन भूकंप के महसूस किये जाने की जानकारी नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी द्वारा साझा की गई। खबरों के अनुसार, जम्मू-कश्मीर में झटके महसूस होते ही लोग अपने-अपने घरों से बाहर आ कर खड़े हो गए। जबकि, बहुत से लोगों को ये झटके महसूस तक नहीं हुए।

भूकंप का केंद्र :

खबरों के अनुसार, जम्मू-कश्मीर में भूकंप का केंद्र लद्दाख में बताया जा रहा है। मौसम विज्ञान केंद्र के एक अधिकारी ने बताया कि, भूकंप का निर्देशांक 36.62 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 74.56 डिग्री पूर्वी देशांतर है, जो कि, लद्दाख क्षेत्र है। यह पृथ्वी की पपड़ी के अंदर 200 किलोमीटर की गहराई में था। बता दें, कश्मीर में भूकंप से पहले ही कई बार तबाही का मंजर भी देखा जा चुका है। बता दें, कई साल पहले यानि 8 अक्टूबर 2005 को कश्मीर में 7.6 तीव्रता से भूकंप आया था। इस भूकंप के झटकों से भारत और पाकिस्तान के 80 हजार लोगों की जान चली गई थी। कश्मीर में भूकंप का कारण यह है कि, यह पहाड़ी इलाका है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co