उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में आया भूकंप, तेज झटकों से कांपी धरती
उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में आया भूकंपSocial Media

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में आया भूकंप, तेज झटकों से कांपी धरती

आज उत्तराखंड (Uttarakhand) के पिथौरागढ़ (Pithoragarh) जिले में भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिसके बाद यहां हड़कंप मच गया, लोग घरों से बाहर निकले।

पिथौरागढ़, भारत। उत्तराखंड (Uttarakhand) के पिथौरागढ़ (Pithoragarh) से एक बड़ी खबर सामने आई है। खबरों के अनुसार, आज उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिसके बाद यहां हड़कंप मच गया, लोग घरों से बाहर निकले।

मिली जानकारी के अनुसार, उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में सुबह 10.03 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.6 तीव्रता रही। जबकि गहराई 05 किमी रही। नेपाल सीमा, जौलजीबी, धारचूला में झटका तेज रहा। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (एनसीएस) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। जानकारी के मुताबिक, अभी तक किसी तरह के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है।

NCS ने ट्वीट कर कही यह बात:

नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने ट्वीट कर बताया कि, "4.6 मैग्नीट्यूड का भूकंप (Uttarakhand Earthquake) बुधवार की सुबह 10 बजकर 3 मिनट को उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में 5 किमी के रेंज में आया।"

जानकारी के लिए बता दें कि, इससे पहले 12 फरवरी में यहां भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। उस दौरान भूकंप की तीव्रता 4.1 रिकॉर्ड की गई थी। उस दौरान उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में भूकंप का केंद्र होने की सूचना मिली थी। इससे पहले बीते गुरुवार की सुबह जम्मू कश्मीर में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.3 दर्ज की गई थी। बताया गया था कि, भूकंप का केंद्र ताजिकिस्तान में था।

भूकंप की स्थिति में क्या करें, क्या न करें:

  • भूकंप आने पर आप घर से बाहर हैं तो ऊंची इमारतों, बिजली के खंभों आदि से दूर रहें।

  • भूकंप के झटके महसूस बंद होने तक बाहर ही रहें।

  • यदि आप गाड़ी चला रहे हो तो गाड़ी को रोक लें और गाड़ी में ही बैठे रहें।

  • पुल या सड़क पर जाने से बचें।

  • भूकंप आने के वक्त यदि आप घर में हैं तो फर्श पर बैठ जाएं।

  • यदि आप घर से बाहर नहीं निकल सकते तो, घर के किसी कोने में चले जाएं।

  • घर में कांच, खिड़कियों, दरवाज़ों और दीवारों से दूर रहें।

  • भूकंप के समय लिफ्ट का इस्तेमाल करने से बचें।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.