असम में चुनावी हलचल के बीच भूकंप के तेज झटकों से थर्राई धरती
असम में चुनावी हलचल के बीच भूकंप के तेज झटकों से थर्राई धरतीSocial Media

असम में चुनावी हलचल के बीच भूकंप के तेज झटकों से थर्राई धरती

असम में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं, तो वहीं गुवाहाटी में भूकंप के झटकों से लोग डरकर घरों से बाहर निकल गए। जानें क्‍या रही भूकंप की तीव्रता और केंद्र...

असम, भारत। भूकंप की आपदा इस साल में भी कहर मचा रही है। लगातार देश के कई राज्‍याें की धरती भूकंप की वजह से थरथरा रही है, अब हाल ही में असम में भूकंप के झटकों की खबर आयी है। एक तरफ असम में चुनाव की हलचल है, तो वहीं दूसरी ओर भूकंप से लोगों में डर व चिंता देखी जा रही है।

असम में महसूस हुए भूकंप के झटके :

बताया जा रहा है कि, असम में आज बुधवार को शाम 5 बजकर 54 मिनट के आस-पार भूकंप आया। यहां भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। ताे वहीं, गुवाहाटी में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं, लोग डरकर घरों से बाहर निकल गए। इस दौरान भूकंप का केंद्र और तीव्रता क्‍या रही इसकी जानकारी भी समाने आई हैैै।

भूकंप की तीव्रता और केंद्र :

दरअसल, नेशनल सेंटर फॉर सिस्‍मोलॉजी के मुताबिक, असम में शाम 5 बजकर 54 मिनट पर आए भूकंप की तीव्रता रिक्‍टर पैमाने पर 4.7 मापी गई। इसके अलावा भूकंप का केंद्र तेजपुर से 17 किलोमीटर दूर पश्चिम-पश्चिमोत्‍तर में था। हालांकि, आज भूकंप की इस प्राकृतिक आपदा से जानमाल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है। असम सहित पूर्वोत्‍तर के कई इलाकों को भूकंप की दृष्टि से संवेदनशील इलाकों में रखा जाता है, ऐसे में लोगों में डर और चिंता अधिक देखी जा रही है।

बता दें कि, इससे पहले असम में जनवरी में 2.8 की तीव्रता से भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। असम के करबी अंगलॉन्ग में 3 जनवरी को भूकंप के झटके महसूस किए गए थे, जिसके बाद लोग डरकर अपने घरों से बाहर निकल गए थे। रात करीब 10:15 बजे भूकंप आया था, जिसके बाद इलाके में अफरातफरी मच गई थी।

उल्‍लेखनीय है कि, इससे पहले भूकंप के झटके राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली के अलावा उत्‍तर प्रदेश, पंजाब, जम्‍मू-कश्‍मीर, हरियाणा, राजस्‍थान, उत्‍तराखंड, गुजरात, समेत उत्‍तर भारत के कई इलाकों में महसूस किए गए थे। इस दौरान भी जान-माल के नुकसान की कोई खबर सामने नहीं आई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co