Pathalgadi Movement
Pathalgadi Movement|Priyanka Sahu -RE
पूर्व भारत

पत्थलगड़ी समर्थकों ने किया 7 विरोधियों का अपहरण, हत्या की आशंका

झारखंड के अति नक्सल प्रभावित गुदड़ी थाना में बुरुगेलिकेरा के उपमुखिया जेम्स बुढ समेत 7 ग्रामीणों द्वारा पत्थलगड़ी का विरोध करने पर इन लोगों का अपहरण कर हत्या की जाने की आशंका है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले में दिल दहलाने वाली एक बड़ी खबर सामने आई है, यहां के अति नक्सल प्रभावित गुदड़ी थाना में बुरुगेलिकेरा के उपमुखिया जेम्स बुढ समेत 7 ग्रामीणों की हत्या की आशंका जताई जा रही है। हालांकि, ऐसा बताया जा रहा है कि, पत्थलगड़ी आंदोलन (Pathalgadi Movement) के समर्थकों द्वारा पत्थलगड़ी का विरोध करने पर इन लोगों की हत्या की है।

वहीं, चाईबासा एसपी इंद्रजीत महथा ने बताया- पुलिस को सात लोगों की हत्या की सूचना मिली है। शवों को ढूंढ़ने के लिए पुलिस सर्च अभियान चला रही है, लेकिन देर रात तक कोई शव नहीं मिला था। उधर, पुलिस की एक टीम बुरुगुलीकेरा गांव के आस-पास के जंगल में शवों को तलाशने में जुटी है।

इसके अलावा आज बुधवार को इस हत्याकांड की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन दिल्ली से लौटने के बाद चाईबासा जा सकते हैं।

बताते चलें कि, बुरुगुलीकेरा गांव में यह घटना रविवार को हुई है। पत्थलगड़ी समर्थक उपमुखिया जेम्स बूढ़ और अन्य 6 लोगों को उठाकर जंगल की ओर ले गए। जब देर रात यह लोग घर नहीं पहुंचे, तो परिजनों ने गुदड़ी थाना पहुंकर इस मामले की जानकारी पुलिस को दी। हालांकि, पुलिस को इसकी देर से सूचना मिली, फिलहाल इलाके में भारी संख्या में पुलिस की तैनाती कर दी गई है और मामले की जांच की जा रही है।

क्‍या है मामला?

दरअसल, पत्थलगड़ी के तहत सरकारी संस्थानों और सुविधाओं के बहिष्कार करने की बात पर स्थानीय शासन की मांग की जाती है। आदिवासी समुदाय नामक संगठन के बैनर तले ग्रामीण गांव के प्रवेश द्वार पर इस आशय की सूचना पत्थर पर खुदवा रहे हैं कि, यहां ग्रामसभा का शासन है और सरकारी आदेशों व सरकारी संस्थानों की यहां कोई मान्यता नहीं है, इसे ही पत्थलगड़ी नाम दिया गया है।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो, कुछ दिन पहले पत्थलगड़ी आंदोलन से जुड़े लोगों ने एक बैठक की थी, इस दौरान कुछ ग्रामीणों ने पत्थलगड़ी का विरोध किया। इससे दो गुटों में विवाद पैदा हो चला, मारपीट भी हुई, इसी के चलते दोनों गुटों में तनाव इतना अधिक बढ़ गया कि, इतनी बढ़ी घटना को अंजाम दे दिया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co