पटना कोविड अस्पताल में लाश के बीच रहने को मजबूर मरीज
पटना कोविड अस्पताल में लाश के बीच रहने को मजबूर मरीज|Priyanka Sahu -RE
पूर्व भारत

पटना कोविड अस्पताल में कोरोना स्थिति बदतर- लाश के बीच रहने को मजबूर मरीज

बिहार में पटना के अस्पताल का एक वीडियो सामने आया, जो रोंगटे खड़े करने वाला है। कोरोना पहले ही जान का दुश्‍मन बना है, ऐसे में मृतक मरीज को वार्ड में ही छोड़ देने की लापरवाही सामने आई है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

बिहार, भारत। देश में खतरनाक कोरोना वायरस की महामारी का प्रकोप चरम पर है, रोजाना नए मरीजों की तादाद बढ़ रही है। वहीं, बिहार राज्‍य भी इससे अछूता नहीं है, यहां कोविड-19 की स्थिति बदतर होती जा रही है। राजधानी पटना के कोविड अस्पताल एनएमसीएच का एक वीडियो सामने आया जो वाकई रोंगटे खड़े कर देने वाला है।

कोविड वार्ड में शव के आस-पास मरीज :

दरअसल, बिहार सरकार के सबसे बड़े कोविड अस्पताल नालंदा मेडिकल कॉलेज (NMCH) के वार्ड से एक वीडियो सामने आया है। एनएमसीएच अस्‍पलाल में पिछले दो दिनों से शव पड़ा हुआ है और ये शव कोरोना मरीज का है, लेकिन इसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। अभी तक कोविड वार्ड में ही रखा हुआ है। इतना ही नहीं इस दौरान शव के आस-पास मौजूद मरीज इस बात का इंतजार कर रहे हैं कि, आखिर अस्पताल प्रशासन इसे वार्ड से कब हटाएगा।

इस दौरान आइसोलेशन वार्ड में पड़े शव के कारण वहां इलाजरत कोरोना संक्रमित मरीजों ने विरोध करना शुरू कर दिया है, संक्रमित मरीज खाना पीना छोड़ दिए है और इनका कहना है कि, जबतक शव को वार्ड से नहीं हटाया जा सकता है तबतक वो लोग खाना पीना नहीं खाएंगे।

बता दें कि, देश में कोरोना महामारी पहले से ही जान का दुश्‍मन बनी हुई है, ऐसे में कोरोना संक्रमित मरीज की मौत के बाद वार्ड में ही छोड़ दिया गया है, इस तरह की लापरवाही से संक्रमण बढ़ने का खतरा और बढ़ जाता है, क्‍योंकि इलाजरत संक्रमित मरीज जो ठीक हो रहे होंगे, उनको फिर से संक्रमित होने के आसार बढ़ सकते हैं।

हालांकि, इस दौरान हैरान कर देने वाली बात तो ये है कि, इस मामले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री और जिलाधिकारी पटना को भी फोन किया गया, लेकिन अभी तक ना तो मंत्री स्तर से इसपर कोई संज्ञान लिया गया ना ही जिलाधिकारी स्तर से शव को हटाने की कार्रवाई की पहल की गयी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co