Lohardaga CAA Support Rally Violence
Lohardaga CAA Support Rally Violence|Priyanka Sahu -RE
पूर्व भारत

CAA समर्थन जुलूस में पथराव से हालात बेकाबू, धारा 144 लागू

झारखंड के लोहरदगा में विश्व हिंदू परिषद द्वारा निकाले गए CAA समर्थन जुलूस मेें जमकर पथराव व आगजनी हुई, अचानक भड़की इस हिंसा के बाद पूरे शहर में अफरा-तफरी मच गई, हालात बेकाबू देख धारा-144 लागू की गई।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। देश में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ मच रहा बवाल थमने का नाम ही नहीं ले रहा है, जिस दिन से यह कानून बना उस दिन से हालात और भी अधिक बेकाबू होते नजर आ रहे हैं, आए दिन कहीं न कहीं इस कानून के खिलाफ विरोध हो रहा, तो कोई इसके समर्थन में रैली निकाल रहा है। हाल ही में बीते दिन यानी गुरुवार को झारखंड के लोहरदगा में CAA के समर्थन में विश्व हिंदू परिषद द्वारा निकाले गए जुलूस में भी जमकर हमला-पथराव (Lohardaga CAA Support Rally Violence) होने की खबर सामने आई है।

शहर में जमकर बवाल और आगजनी :

जुलूस के दौरान अचानक हुए जमकर पथराव के बाद पूरे शहर में अफरा-तफरी मच गई। इतना ही नहीं उपद्रवियों ने जमकर बवाल मचाते हुए तोड़फोड़ की, साथ ही आगजनी भी की। CAA समर्थक एवं विरोधियों के बीच हुई हिंसा में लगभग 50 लोगों के घायल होने की सूचना है, हालांकि सभी को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि, घायलों में तीन पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।

शहर में धारा 144 लागू :

CAA समर्थक एवं विरोधियों के बीच मचे इस बवाल और तनाव को देखते हुए जिला प्रशासन ने हिंसा रोकने शहर में धारा 144 लागू कर दी। बता दें कि, CAA समर्थन जुलूस में यह बवाल पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों व सुरक्षा बलों की मौजूदगी में हुआ। उपद्रवी भीड़ ने जुलूस में शामिल पिकअप वैन और उसमें लगे साउंड सिस्टम को फूंक दिया। करीब 50 बाइक, तीन ट्रक और दर्जनभर दुकानें लूटकर जला दी गईं। पुलिस ने भीड़ के हमले के कारण घर में फंसे तीन परिवारों को किसी तरह बचाया। उपद्रवियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग भी की।

पथराव का पूरा घटनाक्रम :

बताते चलें कि, पूर्वघोषित कार्यक्रम के अनुसार गुरुवार सुबह 11:30 बजे लोहरदगा के ललित नारायण स्टेडियम से विश्व हिंदू परिषद की रैली निकली, जो बरवा टोली, अपर बाजार, बड़ी मस्जिद थाना चौक होते हुए जैसे ही बड़ा तालाब, अमला टोली के पास पहुंची, तो यहां पथराव की घटना होने लगी। जुलूस के आगे-आगे सुरक्षा के लिहाज से एसपी प्रियदर्शी आलोक चल रहे थे, वहीं सिविल एसडीओ सहित कई अधिकारी और जवान भी तैनात थे।

इसके बावजूद भी मेन रोड से गुजरते जुलूस पर अगल-बगल गली कूचों, छत और घरों की ओट से पत्थर बरसने लगे, जिसमें कई लोग लहुलुहान होकर भागने लगे और अफरा-तफरी मच गई। वहीं, जुलूस में शामिल कई लोगों ने बचाव-प्रतिक्रिया में उन्हीं पत्थरों को उठाकर वापस रोड़े बाजी शुरू कर दी, फिर तोड़फोड़ और आगजनी शुरू हो गई।

इस जुलूस में कौन-कौन शामिल :

CAA समर्थक के जुलूस में सांसद सह पूर्व केंद्रीय मंत्री सुदर्शन भगत सहित भाजपा, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, हिंदू जागरण मंच सहित कई संगठनों के लोग और काफी संख्‍या में महिलाएं शामिल थीं। यह जुलूस माहरणालय मैदान तक पहुंचना था, लेकिन बीच में की हिंसा होने के कारण पावर गंज तक ही पहुंच पाया। इसके बाद धारा-144 लागू कर दी गई। शहर में भड़की इस हिंसा से लाखों का नुकसान हुआ है, साथ ही सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ गया। स्थिति को नियंत्रित और शांति व्यवस्था बहाल करने की कोशिश में प्रशासन जुटा हुआ है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co