पीएम 'मोदी' को मिले उपहारों की प्रदर्शनी-होगी ई-नीलामी
National Gallery of Modern ArtSushil Dev

पीएम 'मोदी' को मिले उपहारों की प्रदर्शनी-होगी ई-नीलामी

नई दिल्ली : शनिवार को नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट का उद्घाटन केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल द्वारा किया गया, यहाँ मोदी जी को मिले सारे उपहार नीलामी के लिए रखे गए हैं।

हाइलाइट्स :

  • शनिवार को नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट का उद्घाटन

  • केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल द्वारा हुआ उद्घाटन

  • इस मॉडर्न आर्ट में होंगे पीएम मोदी को मिले सारे उपहार

  • नीलामी के लिए रखे गए हैं उपहार

  • 'नमामि' में मिला फंड होगा गंगे के लिए

राज एक्सप्रेस। केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने शनिवार को यहां के नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट में मिले उपहारों की प्रदर्शनी सह ई-नीलामी का उद्घाटन किया।

मंत्री जी का कहना :

इस मौके पर उपस्थित होकर उन्होंने कहा कि, मोदी भारत के ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने स्वयं को भेंट किए गए सभी उपहारों की नीलामी का उपयोग "नमामि गंगे" के जरिए देश की जीवन रेखा मानी जानी वाली गंगा नदी के संरक्षण के लिए करने का निर्णय लिया है। उन्होंने आगे कहा कि, इन स्मृति चिन्हों के मूल्य का आंकलन मौद्रिक रूप में नहीं किया जा सकता है, इन उपहारों से जुड़ी भावनाऐं अनमोल हैं, जिसका आंकलन नहीं किया जा सकता।

शीर्ष बोलीदाताओं को भेजेंगे बधाई पत्र :

श्री पटेल ने कहा कि, शीर्ष 20 बोली दाताओं को नमामि गंगे परियोजना में उनके योगदान के लिए भारत सरकार की ओर से बधाई पत्र भेजे जाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि, यह भारत के प्रधानमंत्री को भेंट किए गए प्रतिष्ठित एवं यादगार उपहारों की ई-नीलामी का दूसरा दौर है।

प्रदर्शनी का आयोजन :

प्रदर्शनी का आयोजन आज से लेकर 3 अक्टूबर 2019 तक वेब पोर्टल www.pmmementos.gov.in पर किया जाएगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार, इस दौर में 2700 से अधिक स्मृति चिन्हों की ई-नीलामी होगी। फिलहाल लगभग 500 स्मृति चिन्हों को नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट में "स्मृति चिन्ह" शीर्षक के साथ सुबह 11 बजे से शाम 8 बजे तक आम जनता के लिए के प्रदर्शित किया गया हैं।

हर हफ्ते अलग-अलग उपहार :

प्रदर्शित किए गए स्मृति चिन्हों को हर हफ्ते बदल दिया जाएगा। प्रदर्शित किए गए उपहारों में पेंटिंग, स्मृति चिन्ह, मूर्तियां, शॉल, पगड़ी, जैकेट और पारंपरिक वाद्य यंत्र आदि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि, इन स्मृति चिन्हों का न्यूनतम आधार मूल्य 200 रुपये और अधिकतम आधार मूल्य 2.5 लाख रुपये है। उन्होंने यह भी बताया कि स्मृति चिन्हों में 576 शॉल, 964 अंगवस्त्रम, 88 पगड़ियां और विभिन्न प्रकार के जैकेट शामिल हैं जो हमारे देश की विविध एवं रंगारंग संस्कृति को दर्शाते हैं।

नमामि गंगे के लिए होगा फंड :

उन्होंने कहा कि, इस नीलामी से जुटाई गई रकम का इस्तेमाल "नमामि गंगे" परियोजना के लिए किया जाएगा। कार्यक्रम के दौरान संस्कृति मंत्रालय के सचिव अरुण गोयल भी उपस्थित थे। प्रथम चरण- संस्कृति मंत्रालय के तत्वावधान में नई दिल्ली की नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट ने 27 और 28 जनवरी 2019 को विभिन्न अवसरों पर प्रधानमंत्री को भेंट किए गए 1800 स्मृति चिन्हों की भौतिक नीलामी में पूरा हुआ था। शेष वस्तुओं की ब्रिकी ई-नीलामी के माध्यम की जा रही है। नीलामी से जुटाई गई रकम का उपयोग "नमामि गंगे" परियोजना के लिए किया जायेगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co