UNSC की बैठक में बोले विदेश मंत्री जयशंकर
UNSC की बैठक में बोले विदेश मंत्री जयशंकरSocial Media

UNSC की बैठक में बोले विदेश मंत्री जयशंकर- आतंकवाद मानवता के ऊपर सबसे बड़े ख़तरों में से एक है

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की आतंकवाद निरोधक समिति की विशेष बैठक का आज दूसरा दिन है। इस दौरान विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर (S. Jaishankar) ने आतंकवाद को लेकर कड़ा रुख अपनाया है।

दिल्ली, भारत। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की आतंकवाद निरोधक समिति की विशेष बैठक का आज दूसरा दिन है। UNSC की बैठक के दूसरे दिन अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के सदस्य एकत्र हुए थे। इस दौरान आतंकवाद से बचने वाले लोगों, पीड़ितों और उनके परिवारों की याद में एक मिनट का मौन रखा गया। इस दौरान विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर (S. Jaishankar) ने आज फिर आतंकवाद को लेकर कड़ा रुख अपनाया है। उन्होंने इस दौरान कहा कि, आतंकवाद मानवता के ऊपर सबसे बड़े ख़तरों में से एक है।

डॉ. एस जयशंकर ने कही यह बात:

UNSC की बैठक में विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने आतंकवाद को लेकर कड़ा रुख अपनाते हुए कहा कि, "CTC की इस विशेष बैठक के लिए आज दिल्ली में आप सबकी उपस्थिति यहां पर हुई है, जोकि UNSC के सदस्य, सदस्य देशों के आतंकवाद के महत्वपूर्ण और उभरते हुए पहलूओं पर ध्यान केंद्रीत करने को दर्शाती है।"

आतंकवाद मानवता के ऊपर सबसे बड़े ख़तरों में से एक है: डॉ. एस जयशंकर

इस दौरान उन्होंने कहा कि, "आतंकवाद मानवता के ऊपर सबसे बड़े ख़तरों में से एक है। UNSC ने पिछले 2 दशकों मेंआतंकवाद जैसे ख़तरे से निपटने के लिए मुख्य रूप से आतंकवाद विरोधी प्रतिबंध व्यवस्था के आसपास निर्मित एक महत्वपूर्ण वास्तुकला विकसित की है।"

दिल्ली में आतंकवाद निरोधी समिति की विशेष बैठक में विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने कहा कि, "यह उन देशों को का ध्या केंद्रीत करने में बहुत प्रभावी रहा है, जिन्होंने आतंकवाद को राज्य द्वारा वित्त पोषित उद्यम में बदला है।"

उन्होंने कहा कि, "हाल के वर्षों में आतंकवादी समूहों ने विशेष रूप से खुले और उदार समाजों में तकनीक तक पहुंच प्राप्त करके अपनी क्षमताओं को बढ़ाया है। वे स्वतंत्रता, सहिष्णुता और प्रगति पर हमला करने के लिए खुले समाज की तकनीक, धन और लोकाचार का उपयोग करते हैं।"

डॉ. एस जयशंकर ने आगे कहा कि, "समाज को अस्थिर करने के उद्देश्य से प्रचार, कट्टरता और षड्यंत्र के सिद्धांतों को फैलाने के लिए इंटरनेट और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म आतंकवादियों और आतंकवादी समूहों के टूलकिट में शक्तिशाली उपकरण बन गए हैं।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co