किसान संगठनों का देशव्यापी चक्का जाम- बढ़ी पुलिस चौकासी
किसान संगठनों का देशव्यापी चक्का जाम- बढ़ी पुलिस चौकासी Social Media

किसान संगठनों का देशव्यापी चक्का जाम- बढ़ी पुलिस चौकासी

दिल्ली-एनसीआर में सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी है, दिल्ली पुलिस अलर्ट पर है, क्‍योंकि आज किसान संगठनों द्वारा देशभर में चक्का जाम किया जा रहा है।

दिल्ली, भारत। नए कृषि कानून रद्द कराने की मांग को लेकर किसान आंदोलन का आज 6 फरवरी को 73वां दिन है। आंदोलन कर रहे किसान संगठनों द्वारा आज देशभर में चक्का जाम किया जाने का फैसला लिया गया है। इसके मद्देनजर दिल्ली-एनसीआर में सहित कई जगह पर सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी है, ये चक्का जाम तीन घंटे का होगा।

कई मेट्रो स्‍टेशन हुए बंद :

दिल्ली मेट्रो रेल निगम ने बताया- मंडी हाउस, आईटीओ और दिल्ली गेट के प्रवेश और निकास द्वार बंद हैं। इसके अलावा दिल्ली मेट्रो के लाल किला, जामा मस्जिद, जनपथ और केंद्रीय सचिवालय स्टेशन के प्रवेश / निकास द्वार बंद कर दिए गए हैं।

सुखबीर सिंह बोले-जल्दी रद्द करें ये 3 कानून :

इस बीच सिख राजनीतिक दल शिरोमणि अकाली दल (SAD) के एक प्रसिद्ध भारतीय राजनेता और अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल की प्रतिक्रिया भी आई है, जिसमें उन्‍होंने कहा- मैं प्रधानमंत्री मोदी जी को कहना चाहूंगा कि देश की आवाज़, देश के किसानों की बात सुननी चाहिए और जल्दी ही ये 3 कानूनों को रद्द करना चाहिए।

बड़ी संख्या में सुरक्षाबल तैनात :

किसान संगठनों द्वारा देशभर में आज चक्का जाम के आह्वान को देखते हुए शाहजहांपुर बॉर्डर (दिल्ली-राजस्थान बॉर्डर) पर बड़ी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं।

हरसिमरत कौर बादल का अमरिंदर सिंह पर तंज :

तो वहीं, पूर्व कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने 26 जनवरी की हिंसा और किसानों के चल रहे प्रोटेस्ट को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को निशाने पर लेते हुए कहा- अमरिंदर सिंह ने बॉर्डर पर जाकर किसानों का एक बार हालचाल तक नहीं लिया। अमरिंदर सिंह की नालायकी की वजह से ये सब हुआ, साल 2019 से बिल बन रहा था, तब पैरवी हुई होती तो आज ये नहीं होता। कैप्टन साहब अपने फार्म हाउस से बाहर निकलें और लोगों की तकलीफों को दूर करने के लिए काम करें। गलतफहमियां सरकार को हैं और इन्हें दूर किए जाने की कोशिशें होनी चाहिए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co