सुशांत की बहनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराना कानूनन गलत

सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच कर रही सीबीआई ने कोर्ट में कहा, रिया चक्रवर्ती की ओर से सुशांत सिंह राजपूत की बहनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराना विकृत और कानूनन गलत है।
सुशांत की बहनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराना कानूनन गलत
सुशांत की बहनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराना कानूनन गलतSocial Media

मुंबई, महाराष्ट्र। सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच कर रही सीबीआई ने कोर्ट में कहा है कि रिया चक्रवर्ती की ओर से सुशांत सिंह राजपूत की बहनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराना विकृत और कानूनन गलत है। जांच एजेंसी ने अदालत में कहा कि रिया चक्रवर्ती की शिकायत के आधार पर दर्ज की गई एफआईआर में अभिनेता की बहनों के खिलाफ आरोप अनुमान और अटकलों के आधार पर लगाए गए हैं। साथ ही एजेंसी ने कहा कि अगर मुंबई पुलिस या रिया चक्रवर्ती को सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बारे में कोई जानकारी देनी है, तो उसे सीधे कार्रवाई के लिए सीबीआई के साथ साझा किया जाना चाहिए था। बांद्रा पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज करवाने की आवश्यकता नहीं थी।

गौरतलब है कि अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने मंगलवार को बंबई उच्च न्यायालय से दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की दो बहनों की एक याचिका को खारिज करने का अनुरोध किया था। उस याचिका में दोनों बहनों ने अपने भाई के लिए फर्जी मेडिकल बनवाने और हासिल करने के आरोप में उनके विरुद्ध दर्ज की गयी प्राथमिकी को रद्द करने का अनुरोध किया है।

रिया ने लगाए थे ये आरोप :

रिया चक्रवर्ती पर अपने प्रेमी राजपूत को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है। इस मामले में राजपूत की बहनों-प्रियंका सिंह और मीतू सिंह के खिलाफ शिकायतकर्ता अभिनेत्री ने उनकी अर्जी का विरोध करते हुए मंगलवार को हलफनामा दायर किया था और कहा था कि दोनों के विरुद्ध लगे आरोप गंभीर हैं। उन्होंने कहा कि राजपूत की बहनों के खिलाफ इस मामले की जांच अभी प्रारंभिक चरण में है, इसलिए जांच एजेंसी को समय दिए जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा था कि राजपूत को वे दवाएं दिलाने में फर्जी मेडिकल पर्ची का उपयोग किया गया जो स्वापक औषधि एवं मन प्रभावी पदार्थ कानून (एनडीपीएस) के तहत प्रतिबंधित हैं। चक्रवर्ती ने हलफनामे में कहा, राजपूत द्वारा उक्त पर्ची हासिल करने के पांच दिन बाद उनकी मौत हो गई। इस पर्ची में उन्हें अवैध रूप से उनकी बहन (प्रियंका) और डॉ. प्रियंका कुमार के कहने पर प्रतिबंधित दवाएं लेने को कहा गया है। हलफनामे में कहा गया था कि इसकी जांच की जानी चाहिए कि राजपूत ने वे दवाएं लीं या नहीं, जिससे शायद उनकी मृत्यु हो गई हो या मानसिक स्थिति और बिगड़ गई हो। उसमें कहा गया है कि (राजपूत की बहनों की) याचिका को खारिज किया जाए। अभिनेत्री ने अपने वकील सतीश मानशिंदे के माध्यम से हलफनामा दाखिल की थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co