Nishikant Dubey and Manoj Tiwari
Nishikant Dubey and Manoj TiwariSocial Media

देवघर एयरपोर्ट की सुरक्षा में चूक के मामले में निशिकांत दुबे और मनोज तिवारी समेत कई के खिलाफ FIR दर्ज

देवघर एयरपोर्ट की सुरक्षा में सेंध लगाने के आरोप में बीजेपी के लोकसभा सांसद निशिकांत दुबे और सांसद मनोज तिवारी समेत 9 लोगों के खिलाफ पुलिस ने FIR दर्ज की है।

देवघर, भारत। झारखंड में इन दिनों सियासी गतिविधियां तेज हैं। हेमंत सोरेन ने अपनी सरकार बचाने के लिए महागठबंधन के विधायकों को रायपुर भेज दिया है। इसी बीच खबर आई है कि, देवघर एयरपोर्ट की सुरक्षा में सेंध लगाने के आरोप में भारतीय जनता पार्टी के लोकसभा सांसद निशिकांत दुबे, उनके दो बेटों, सांसद मनोज तिवारी, देवघर हवाई अड्डे के निदेशक समेत 9 लोगों के खिलाफ पुलिस ने FIR दर्ज की है। बता दें, इन सभी पर देवघर एयरपोर्ट के एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) रूम में जबरन घुसने का आरोप है।

बता दें कि, इन बीजेपी नेताओं के खिलाफ देवघर के कुंडा पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। ये शिकायत एयरपोर्ट के सुरक्षा प्रभारी सुमन आनंद की शिकायत पर दर्ज की गई है। शिकायत में कहा गया है कि, निशिकांत दुबे और मनोज तिवारी समेत बाकि नेताओं ने अधिकारियों पर जबरन दबाव बनाकर ATC क्लियरेंस लिया।

कुंडा थाना प्रभारी प्रवीण कुमार ने बताया कि, "दोनों सांसदों - निशिकांत दुबे और मनोज तिवारी और हवाई अड्डे के निदेशक सहित नौ लोगों पर आईपीसी की धारा 336 (दूसरों की जान या व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालने वाला कार्य), 447 (आपराधिक अतिचार के लिए सजा), 448 (घर-अतिचार के लिए सजा) के तहत मामला दर्ज किया गया है।"

देवघर पुलिस ने कही यह बात:

देवघर पुलिस ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि, देवघर पुलिस ने 31 अगस्त को देवघर हवाईअड्डे से उड़ान भरने के लिए कथित तौर पर हवाई यातायात नियंत्रण(ATC) से मंजूरी लेने के आरोप में BJP सांसद निशिकांत दुबे उनके 2 बेटों,सांसद मनोज तिवारी, देवघर हवाई अड्डे के निदेशक और अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

देवघर पुलिस ने आगे बताया कि, "सुरक्षा प्रभारी सुमन आनंद की शिकायत पर एक सितंबर को कुंडा पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज की गई थी, जिसमें कहा गया था कि, उक्त व्यक्तियों ने ATC कक्ष में प्रवेश करके सभी सुरक्षा मानकों का उल्लंघन किया और अधिकारियों पर निकासी के लिए दबाव डाला।"

यह है पूरा मामला:

जानकारी के लिए बता दें कि, मनोज तिवारी, कपिल मिश्रा और निशिकांत दुबे दुमका छात्रा हत्याकांड मामले में परिजनों से मिलने चार्टर्ड प्लेन से देवघर पहुंचे थे। एयरपोर्ट से शाम छह बजे तक ही उड़ान की इजाजत थी, लेकिन सांसद पर जबरन शाम पांच बजकर 30 मिनट पर क्लियरेंस लेने का आरोप लगा है। इस घटना के बाद ही अधिकारी ने एयरपोर्ट की सुरक्षा का हवाला देते हुए, शिकायत दर्ज करवाई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co