Raj Express
www.rajexpress.co
दक्षिण भारत में भारी बारिश-बाढ़ का कोहराम
दक्षिण भारत में भारी बारिश-बाढ़ का कोहराम|Neha Shrivastava - RE
भारत

दक्षिण भारत के 3 राज्यों में भारी बारिश-बाढ़ के कोहराम से बुरा हाल

दक्षिण भारत के इन 3 राज्यों कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में भारी बारिश और बाढ़ के कारण मचा कोहराम, तो आइये जाने इन राज्यों में हो रही भारी बारिश और बाढ़ के हालातों के बारे में।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। सावन माह में इन दिनों काले बादलों के सितम के साथ ही भारी बारिश ने तबाही मचा दी हैं, तो आज हम यहां बात करेंगे दक्षिण भारत के इन 3 राज्‍यों के बारे में जहां भारी बारिश और बाढ़ के कारण कोहराम मचा हुआ है और अधिकांश हिस्‍सों में बारिश की तबाही से स्थिति गंभीर हैं, लोग बुरे हालातों से यहां जूझ रहे हैं। तो आइये नजर डालते हैं कि, आखिर दक्षिण भारत में ऐसे कौन से 3 राज्‍य हैं।

इन 3 राज्‍यों में मचा बारिश-बाढ़ का कोहराम :

  • कर्नाटक

  • केरल

  • तमिलनाडु

कर्नाटक में बने बाढ़ के हालात :

सबसे पहले यहां हम बात करते हैं कर्नाटक राज्‍य के बारे में, यहां फिलहाल अभी भी तेज बारिश हो रही हैं, जिसके चलते यहां पर कृष्‍णा नदी का जलस्‍तर खतरे के निशान के ऊपर उफान पर आ चुकी हैं, जिससे कई गांव बरबादी की कगार पर आ गए हैं। वैसे यहां नौसेना की मदद द्वारा बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने की पूरी कोशिश में जुटी हैं व उन्‍हें बाहार निकाल रही है। बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालना ये एक बड़ी चुनौती बन गई हैं, जबकि कर्नाटक में लगभग 9 लोगों की मौत हो गई है। ऐसा बताया जा रहा हैं कि, कर्नाटक राज्‍य के लगभग कुछ गांव ऐसे है, जो बाढ़ के पानी से डूबे हुए हैं। वहीं यहां से अभी तक लगभग 42000 लोगों को सु‍रक्षित स्‍थनों पर पहुंचा दिया गया हैं।

केरल में भी भारी बारिश का कहर :

केरल में मूसलाधार बारिश, तेज हवाओं और भूस्खलन के कहर से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है एवं केरल के इन जिलों एर्नाकुलम, त्रिशूर, पठानमथिट्टा, मलप्पुरम में जोरदार बारिश हुई हैं, जिससे अन्‍य घरों में पानी भरा है, तो कहीं सड़को पर जल भराव के कारण उन सड़कों को बंद भी कर दिया गया हैं, वैसे ऐसा बाताया जा रहा है कि, केरल में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से अब तक लगभग 10 लोग अपनी जान गवा बैंठे हैं। इसके मद्देनर बाढ़ प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

315 राहत शिविरों को भी विस्थापित :

वहीं केरल राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (KSDMA) द्वारा ये जानकारी प्राप्‍त हुई है कि, केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों में से अब तक 22,165 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला जा चुका है। इसके साथ ही यहां के पूरे राज्यों में बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए 315 राहत शिविरों को भी विस्थापित कर दिया गया हैं।

इस ट्वीट में देखें कहां कितने-कितने राहत शिविर लगे है :

विमान परिचालन बंद :

इसके अलावा केरल में भारी बारिश व बाढ़ के इन हालातों के चलते कोच्चि एयरपोर्ट 11 अगस्‍त यानी रविवार दोपहर 3 बजे तक के लिए यहां पर सभी विमानों का परिचालन भी बंद कर दिया गया है। वहीं मौसम विभाग ने केरल के इडुक्की, मलप्पुरम, कोझिकोड में बारिश का रेड अलर्ट, जबकि त्रिशूर, पलक्कड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड में बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। वहीं केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा है कि, सरकार बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए हर संभव कोशिश करेगी।

तमिलनाडु में भी भारी बारिश :

दक्षिण भारत के इन राज्‍यों के अलावा तमिलनाडु में भी कुछ जगहों पर भारी बारिश हुई हैं, यहां भी लगभग दो लोगों की मौत हो चुकी हैं। साथ ही तमिलनाडु के इन जिलों नीलगिरि, थेनी, तिरुनेलवेली और कन्याकुमारी में भी भारी बारिश से तबाही मची हुई हैं।

वैसे हमने अभी ऊपर पढ़ें दक्षिण भारत के 3 राज्‍यों के बारिश- बाढ़ के हालातों के बाद अगर यहां के अभी तक के आंकड़ों की बात करें तो, इन तीनों राज्‍यों में कुल 21 लोगों की मौत हो चुकी हैं, फिलहाल अभी इन आंकड़ों में से कुछ घट – बढ़ भी सकते हैं, क्‍योंकि अभी भी यहां पर बारिश का सीतम जारी हैं। लोगों के मरने की संख्‍या बढ़ोतरी हो भी सकती हैं, या नहीं भी हो, लेकिन अभी कुछ कहा नहीं जा सकता।