आज से बोडो उग्रवादी नहीं, हमारे भाई हैं : गृह मंत्री अमित शाह
आज से बोडो उग्रवादी नहीं, हमारे भाई हैं : गृह मंत्री अमित शाह|Social Media
भारत

आज से बोडो उग्रवादी नहीं, हमारे भाई हैं : गृह मंत्री अमित शाह

केंद्र सरकार के साथ समझौते के बाद नेशनल डेमोक्रेटिक फेडरेशन ऑफ बोडोलैंड (NDFB) ने अलग बोडोलैंड की मांग को छोड़ दिया है। जानिए इस पर क्या बोले गृह मंत्री अमित शाह...

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। नेशनल डेमोक्रेटिक फेडरेशन ऑफ बोडोलैंड (NDFB) ने अलग बोडोलैंड की मांग को छोड़ दिया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनेवाल की मौजूदगी में NDFB ने समझौते पर हस्ताक्षर कर दिया। इस समझौते के बाद अमित शाह ने कहा कि बोडो उग्रवादियों पर दर्ज मुकदमों का रिव्यू किया जाएगा। अब कोई बोडो उग्रवादी नहीं है, वे सभी हमारे भाई हैं।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि, आज भारत सरकार, असम सरकार और बोडो संगठन के चार समूहों के बीच समझौता हुआ है और यह असम के सुनहरे भविष्य का दस्तावेज है। 1987 से बोडो आंदोलन हिंसक बना और इस संघर्ष में 2,823 नागरिक मारे गए जिसमें 949 बोडो काडर के लोग और 239 सुरक्षाबल भी मारे गए हैं। ये ऐतिहासिक समझौता है।

अमित शाह ने कहा कि 130 हथियारों के साथ 1,550 कैडर 30 जनवरी को आत्मसमर्पण करेंगे। बतौर गृह मंत्री मैं सभी प्रतिनिधियों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि, सभी वादे समयबद्ध तरीके से पूरे होंगे।

बता दें, कुछ दिन पहले ही सैकड़ों की संख्या में अलगाववादियों ने आत्मसमर्पण किया था। असम के आठ प्रतिबंधित संगठनों से ताल्लुक रखने वाले कुल 644 उग्रवादियों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के समक्ष गुरुवार को आत्मसमर्पण कर दिया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co