लद्दाख: पीछे हटने की बात कर भारत के खिलाफ चालाकी चीन की नई चालबाजी
लद्दाख: पीछे हटने की बात कर भारत के खिलाफ चालाकी चीन की नई चालबाजी|Twitter
भारत

लद्दाख: पीछे हटने की बात कर भारत के खिलाफ चालाकी, चीन की नई चालबाजी

लद्दाख के गलवान में चीन की नयी साजिश सामने आई है, सैटेलाइट तस्वीरों से उसकी जमीनी हकीकत पता चली है। बातचीत की आड़ में भारत को धोखा दे रहा है चीन। पता चला है कि, अब चीन गलवान में बंकर बना रहा है।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

लद्दाख, भारत। इन दिनों पूरी दुनिया की नजर दो ताकतवर देश 'भारत और चीन' के बीच बने टकराव पर टिकी हुई हैं, क्‍योंकि पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी पर दोनों देशों में खासा तनाव है, जिसके चलते शांति बनाने के लिए लगातार बैठकों का दौर जारी है। वहीं 22 जून को दोनों पक्षों के सैन्य कमांडर स्तर की बातचीत के बाद सीमा पर तनाव कम करने के लिए दोनों अपने-अपने सैनिकों को पीछे हटाने के लिए राजी हुए थे, लेकिन इसी बीच चीन की एक बार फिर से नई चालबाजी करने की बात सामने आ रही है।

नया मोर्चा खोलने की तैयारी में चीन :

दरअसल, भारत-चीन की सेनाओं में पीछे हटने की बात बनने के बावजूद अब चालाकी चीन नया मोर्चा खोलने की तैयारी में जुटा है और गलवान घाटी सैटेलाइट से कुछ ताजा तस्‍वीरें भी सामने आई हैं, तो चीन की मंशा पर सवाल खड़े होने लगे हैं। साथ ही भारत के खिलाफ चीन फिर कोई नई साजिश की फिराक में है, ऐसा इसलिए क्‍योंकि सामने आई तस्‍वीरें उसकी जमीनी हकीकत को कुछ और बयां कर रही है।

गलवान में चीन ने बनाए बंकर :

सैटेलाइट से मिली ताजा तस्‍वीरों में चीन की चालबाजी का ये पता चला है कि, वह बातचीत की आड़ में भारत को धोखा दे रहा है, तस्‍वीर में साफ नजर आ रहा है कि, चीन गलवान में झड़प की जगह के पास चीन बंकर बना रहा है। इस जगह पर चीन ने छोटी-छोटी दीवारें और खाई बनाई हैं और गलवान घाटी की यह ताजा सैटेलाइट तस्वीरें ओपन सोर्स इंटेलिजेंस अनैलिस्ट Detresfa ने जारी की हैं।

विशेषज्ञों द्वारा ये बताया गया है कि, चीन की इस करतूत को देखकर लग रहा है कि वह बातचीत की आड़ में अपनी सैन्‍य स्थिति को मजबूत कर रहा है। वहीं Detresfa के मुताबिक, ''चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी पैंगोंग सो झील इलाके में अभी भी डेरा जमा रखा है। यही नहीं इसकी मौजूदी छोटे-छोटे समूहों में बढ़ती जा रही है। पैन्गॉन्ग सो के 19 किमी दक्षिण में ज्यादा सपॉर्ट पोजिशन दिख रही है।''

जानकारी के लिए बताते चलें कि, पैंगोंग झील का उत्तरी वाला भाग चीन, जबकि दक्षिणी वाला भाग भारत के कब्जे में है एवं फिंगर क्षेत्र में चीन और भारत की सेना आमने-सामने खड़ी हुई है। बताया जाता है कि, मई के माह में चीन के लगभग 5000 सैनिक उस इलाके में घुस आए, जहां भारतीय सेना पैट्रोलिंग करती थी। चीन ने बंकर बना लिए हैं, पिलबॉक्स खड़े कर लिए हैं और रिजलाइन यानी पहाड़ी चोटियों पर तोपखाना लगा लिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co