लॉकडाउन के बाद स्कूली पढ़ाई के लिए दिशा-निर्देश जारी
लॉकडाउन के बाद स्कूली पढ़ाई के लिए दिशा-निर्देश जारी|Social Media
भारत

लॉकडाउन के बाद स्कूली पढ़ाई के लिए दिशा-निर्देश जारी

एक साल तक सभी CBSE और ICSE स्कूलों में जारी रहेंगे ये नियम, सर्दी, जुकाम होने पर 15 दिन तक स्कूल नहीं आएंगे, शिक्षक-विद्यार्थी, नोटबुक भी सेनेटाइजेशन के बाद चेक की जाएंगी।

Kratik Sahu

राजएक्सप्रेस। कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी से आज पूरी दुनिया लड़ रही है, तो दुनिया में अधिकतर जगह इससे बचने के लिए लॉकडाउन किया गया है। भारत में भी करीब 60 दिनों से लॉक डाउन का कड़क पालन किया जा रहा है। ऐसे में स्कूली छात्र-छात्रों की पढ़ाई पर काफी असर पड़ा है। जिसके लिए एचआरडी मंत्रालय की ओर से नए दिशा-निर्देश जारी किये गए हैं। इन निर्देशों के अनुसार स्कूल की कक्षाओं में पढ़ाई तो शुरू होगी, लेकिन जिन शिक्षक या विद्यार्थी को सर्दी, जुकाम आदि की दिक्कत होगी उनपर अगले 15 से 20 दिनों तक स्कूल आने पर पाबंदी लगा दी जाएगी। ऐसे में शिक्षक घर से ही ऑनलाइन क्लास ले सकेंगे। वहीं ऐसे विद्यार्थी को शिक्षक स्कूल में पढ़ाये जाने वाले चैप्टर को ऑनलाइन प्रोवाइड करवाएंगे। लॉकडाउन के बाद अगले एक साल तक सीबीएसई और आईसीएसई के तमाम स्कूलों में ये नियम लागू होंगे।

मानव संसाधन मंत्रालय की ओर से लॉकडाउन खुलने के बाद शिक्षकों के लिए गाइडलाइन बनाये गए हैं। जैसे कि,

  • गले, मुंह, नाक आदि की शिकायत होने पर शिक्षक खुद ही घर से ही पढ़ाई करवाना शुरू करें।

  • संक्रमण के लक्षण वाले शिक्षक किसी भी विद्यार्थी के सीधा संपर्क में न आएं।

  • इन्हें नोट बुक की जांच करने के साथ स्कूल के अन्य शैक्षणिक कामों से भी दूर रखा जायेगा।

किसी भी शिक्षक को अगर खुद में कोरोना के लक्षण नज़र आते हैं, तो वह तुरंत प्राचार्य से संपर्क कर स्कूल आना बंद करें। साथ ही खुद को घर में ही आइसोलेट करें। ऐसे शिक्षक जो खुद इनेशिएटिव लेते हैं, उन्हें कोरोना योद्धा के तौर पर स्कूल सम्मानित किया जायेगा।

नोटबुक की जांच से पहले उसे सेनेटाइज करने के नियम भी एचआरडी मंत्रालय ने जारी किये है। पहले शिक्षक बिना किसी रोक-टोक के बच्चों की नोटबुक चेक किया करते थे। लेकिन अब इसमें भी कुछ बदलाव है, नोटबुक शिक्षक तक पहुंचने में कुछ घंटो का समय लगेगा। विद्यार्थी द्वारा पहले नोटबुक जमा किया जायेगा। इसके बाद सभी नोटबुक को सेनेटाइज किया जायेगा। बाद ही शिक्षकों को नोटबुक दिए जायेंगे।

मानव संसाधन मंत्रालय द्वारा जारी किये इन नियमों से लॉकडाउन के बाद स्कूल की पढ़ाई, कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को देखते हुए दोबारा जारी की जा सकेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co