Raj Express
www.rajexpress.co
हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्र ने भारतीय छात्रों का किया समर्थन।
हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्र ने भारतीय छात्रों का किया समर्थन।|Social Media
भारत

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्रों ने लिखा, भारत सरकार को खुला पत्र

जामिया विश्वविद्यालय और अलीगढ़ विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के समर्थन में, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्रों ने भारत सरकार को लिखे खुले पत्र में कही ये बात...

रवीना शशि मिंज

राज एक्सप्रेस। जामिया मिल्लिया इस्लामिया और अलीगढ़ विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के समर्थन में अब हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के छात्र भी समर्थन में उतर आए हैं।

हार्वर्ड विश्वविद्यालय के 100 से अधिक छात्रों ने, भारत सरकार को खुला पत्र लिखा है। जिसमें नागरिकता संशोधन कानून पर चिंता जताते हुए, छात्रों के साथ हुई हिंसा की आलोचना की है।

पत्र में छात्रों ने पत्र में पुलिस कार्रवाई को 'प्रदर्शनकारियों का हिंसात्मक दमन' कहा है। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों ने जामिया विश्वविद्यालय और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का समर्थन देते हुए कहा कि, "विरोध प्रदर्शन तथा असहमति लोकतंत्र में अंतर्निहित होते हैं।"

'प्रदर्शन भले ही विघटनकारी और असुविधाजनक होते हैं ' लेकिन देश के धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक ताने-बाने को बनाए रखता है।

पुलिसबल का रवैया निंदनीय था :

भारत सरकार को लिखे गए खुले पत्र में 120 छात्रों ने हस्ताक्षर किए हैं। इन छात्रों का कहना है कि, 'हम छात्रों के साथ हुए बर्ताव से हैरान और चिंतित हैं। कई रिर्पोटस सामने आई है, उसमें सामने आया है कि, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों की हिम्मत तोड़ने के लिए महिला प्रदर्शकारियों का भी पीटा है।'

शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ अश्रुगैस का इस्तेमाल, लाठीचार्ज करना, बिना अनुमति के विश्वविद्यालय के कैंपस में घुस जाना निंदनीय है।

यह कानून संविधान के खिलाफ

इन छात्रों का कहना है कि, 'ये नागरिकता संसोधन कानून संविधान के आर्टिकल 14 के खिलाफ है। यह कानून महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, सरदार पटेल, सरोजिनी नायडू, डॉ. बीआर अंबेडकर और मौलाना आजाद जैसे नेताओं द्वारा कल्पना की गई भारत की भावना के भी खिलाफ है।'

बता दें दिल्ली के जामिया विश्वविद्यालय और उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ विश्वविद्यालय पर हिंसक हो गए प्रदर्शन को नियंत्रण करने के लिए, पुलिस पर जरूरत से ज्यादा बल का प्रयोग करने के आरोप हैं। सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो भी वायरल हो रहे हैं, जिसमें जख़्मी विद्यार्थी और पुलिसकर्मी नज़र आ रहे हैं।

वैसे नागरिकता संशोधन कानून को लेकर प्रदर्शन, देशव्यापी हो चुका है। कहीं लोग शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे हैं, तो कहीं प्रदर्शनकारी उग्र हो गए हैं।

मंगलवार को, दिल्ली के उत्तर पूर्वी के सीलम इलाके में बड़ी संख्या में लोग प्रदर्शन करने उतरे। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया और साथ ही सलीमपुर इलाके की पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिसकर्मियों ने अश्रुगैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया।

प्रदर्शन के दौरान आस-पास के कई मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए गए थे। जिसे हालात के नियंत्रण होने पर फिर से खोल दिया गया है।

दिल्ली की हालात दिनों दिन खराब होती जा रही है। आज की इस घटना को देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।