लॉकडाउन न होता तो अब तक हो गए होते 8.2 लाख लोग संक्रमित

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा यदि लॉक डाउन नहीं होता तो 15 अप्रैल तक भारत में 8.2 लाख कोरोना पॉजिटिव होते ।
लॉकडाउन न होता तो अब तक हो गए होते 8.2 लाख लोग संक्रमित
लॉकडाउन न होता तो अब तक हो गए होते 8.2 लाख लोग संक्रमितKavita Singh Rathore -RE

राज एक्सप्रेस। अमेरिका जैसे शक्तिशाली देशों में इस वक्त कोरोना से लाखों लोग संक्रमित हैं, ऐसे में हमारे भारत के प्रधानमंत्री द्वारा सही समय पर किया गया लॉकडाउन सराहनीय है । केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के हिसाब से अगर भारत में सही समय पर लॉक डाउन नहीं किया गया होता, तो 15 अप्रैल तक भारत में भी 8.2 लाख कोरोना पॉजिटिव होते और अगर ऐसा होता तो भारत के लिए इस स्थिति से निपटना लगभग नामुमकिन हो जाता।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कोरोना से बचने के लिए किया गया, लॉकडाउन और रोकथाम को बिल्कुल नजरअंदाज नहीं किए जा सकते, वह बेहद मायने रखते हैं। वहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्य और प्रशासन से अस्पतालों और क्वॉरेंटाइन सेंटरों में सेवा दे रहे डॉक्टरों और सभी कर्मचारियों को पुलिस सुरक्षा मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि, यदि लॉक डाउन नहीं किया गया होता तो अभी देश में करीब 45 हजार कोरोना पॉजिटिव होते और यही कोरोना पॉजिटिव 15 अप्रैल तक बढ़कर 8.2 लाख हो जाते। देश में इस वक्त 586 अस्पतालों को कोरोना से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए निर्धारित किया गया है।

वहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय की संयुक्‍त सचिव पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने बताया कि लॉकडाउन का सख्‍ती से पालन कराया जा रहा है। शुक्रवार को मंत्रालय ने डिजास्‍टर मैनेजमेंट एक्‍ट के तहत कुछ गाइडलाइन जारी की थी, उसमें फ‍िशिंग मरीन और मछली पालन उद्योग को लॉकडाउन के प्रतिबंधों से राहत दी गई है।

पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने ये भी बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से इस उद्योग को जो राहत दी गई है उसमें मछली पालन उद्योग से जुड़े काम जैसे सेल‍िंग, मार्केटिंग, पैकेजिंग आदि की अनुमति होगी, लेकिन इसके लिए सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करना भी अनिवार्य होगा। वहीं लव अग्रवाल ने बताया कि देश में अब तक 642 लोग कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके हैं। शुक्रवार को 40 लोगों की मौत हुई थी। अब तक कोरोना के 7529 मामले सामने आए हैं और कुल 242 लोगों की इससे मौत हो चुकी है ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co