Amarnath Yatra 2022 : शिव भक्तों के लिए गुड न्‍यूज, अब हेलीकॉप्टर से जा सकेंगे अमरनाथ
Amarnath Yatra 2022 Social Media

Amarnath Yatra 2022 : शिव भक्तों के लिए गुड न्‍यूज, अब हेलीकॉप्टर से जा सकेंगे अमरनाथ

Amarnath Yatra 2022 : कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने श्रीनगर से अमरनाथ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर सेवाओं का उद्घाटन कियाा। जानें कब से शुरू हो रही अमरनाथ की यात्रा...

Amarnath Yatra 2022 : केंद्र शासित प्रदेश जम्‍मू कश्‍मीर की राजधानी श्रीनगर से 145 किलाेमीटर दूर बसा हिन्दुओं का प्रमुख तीर्थ स्थल अमरनाथ की यात्रा पर जाने वालें श्रद्धालुओं के लिए गुड न्‍यूज है। दरअसल, काफी पवित्र मानी जाने वाली यात्रा 'अमरनाथ यात्रा' जाने वाले शिव भक्तों के लिए हवाई सुविधा उपलब्ध हो गई है।

अमरनाथ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर सेवाओं का उद्घाटन :

कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा द्वारा आज गुरुवार को ही अमरनाथ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर सेवाओं की सौगात दी है, जिसके चलते शिव भक्त अब हेलीकॉप्टर के जरिए भी अमरनाथ यात्रा कर सकेंगे। कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने श्रीनगर से अमरनाथ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर सेवाओं का उद्घाटन किया है। हेलीकॉप्टर सेवाओं के उद्घाटन के मौके पर उन्होंने यह कहा-

कई लोग ऐसे हैं जो एक दिन में ही यात्रा करके वापस लौटना चाहते हैं उनके लिए ये काफी महत्वपूर्ण साबित होगा।
कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा

इस बार हम श्रीनगर से नीलग्रथ और श्रीनगर से नुनवान कैंप तक दोनों तरफ की सेवा हेलीकॉप्टर की सेवा शुरू कर रहे हैं। इससे यात्री एक दिन में दर्शन करके लौट सकते हैं।

अमरनाथ श्राइन बोर्ड के CEO नीतीश्वर कुमार

कब से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा :

बता दें कि, दो साल बाद ऐसा शुभ अवसर आया है कि, लंबे इंतज़ार के बाद अब अमरनाथ की यात्रा शुरू की जा रही है। अमरनाथ की यात्रा कोरोना संबंधी सभी नियमों के साथ 30 जून से शुरू होने जा रही है, जिसकी अवधि 43 दिन की होगी और रक्षाबंधन तक चलेगी।

श्रद्धालुओं के लिए चुनौतीपूर्ण यात्रा :

सभी जानते ही होंगे कि, अमरनाथ यात्रा आसान नहीं है, क्‍योंकि यहां की यात्रा श्रद्धालुओं के लिए काफी चुनौतीपूर्ण होती है। यहां जाने वालों को अमरनाथ की पवित्र गुफा तक सीधी खड़ी चढ़ाई वाली पहाड़ियों के रास्तों से गुजर कर जाना पड़ता है। हिंदू पौराणिक मान्यताओं की मानें तो, इसी गुफा में भगवान शिव ने पार्वती को जीवन से जुड़े रहस्यों के बारे में बताया था, जिसे दो कबूतरों ने सुन लिया। उन दो कबूतरों को अब भी इस गुफा में देखा जाता है। मान्यताओं के मुताबिक भृगु ऋषि ने सबसे पहले इस गुफा की खोज की थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co