हिमाचल में बाढ़-लैंडस्लाइड से भारी तबाही
हिमाचल में बाढ़-लैंडस्लाइड से भारी तबाही Raj Express

हिमाचल में बाढ़-लैंडस्लाइड से भारी तबाही, CM सुक्खू बोले- जानमाल की हानि को रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे

हिमाचल प्रदेश में बाढ़-लैंडस्लाइड की भारी तबाही के चलते प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य जारी है। इसी बीच राज्य में बाढ़ की स्थिति पर हिमाचल प्रदेश के CM सुखविंदर सिंह सुक्खू की प्रतिक्रिया आई।

हाइलाइट्स :

  • हिमाचल प्रदेश में बाढ़-लैंडस्लाइड की भारी तबाही

  • राज्य में बाढ़ की स्थिति परCM सुखविंदर सिंह सुक्खू की प्रतिक्रिया

  • NDRF टीमों का प्रभावित क्षेत्र में खोज एवं बचाव अभियान जारी

हिमाचल प्रदेश, भारत। देवभूमि हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और भूस्खलन की विपदा के कारण यहां के लोगों को आपदा का सामना करना पड़ रहा है। कुदरती आपदा से यहां बहुत नुकसान हुआ है, हालात काफी खस्‍ता है। हिमाचल प्रदेश में बाढ़-लैंडस्लाइड की भारी तबाही के चलते प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य जारी है। इसी बीच अब आज शुक्रवार को राज्य में बाढ़ की स्थिति पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू की प्रतिक्रिया आई है।

राज्य में बाढ़ की स्थिति पर CM सुखविंदर की प्रतिक्रिया :

दरअसल, राज्य में बाढ़ की स्थिति पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने अपनी प्रतिक्रिया में यह बात कहीं है कि, सरकार किसी भी तरह की जानमाल की हानि को रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और हम सड़कों की बहाली पर काम कर रहे हैं।

प्रभावित क्षेत्र में खोज एवं बचाव अभियान जारी :

हिमाचल प्रदेश में NDRF की टीमों का शिमला के भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र में खोज एवं बचाव अभियान जारी है। इस दौरान एनडीआरएफ इंस्पेक्टर नसीफ खान ने जानकारी देते हुए बताया कि, रेस्क्यू ऑपरेशन का यह 5वां दिन है...NDRF, सेना की टीम और SDRF ऑपरेशन में शामिल हैं...हमने 80% इलाके की तलाशी ले ली है। आंतरिक हिस्सों तक भारी मशीनें नहीं पहुंच सकतीं इसलिए हम मैन्युअली कर रहे हैं।

बता दें कि, हिमाचल में पिछले चार दिन में बारिश और लैंडस्लाइड की घटना में 74 लोगों की मौत हुई है, इनमें से 21 की मौत शिमला में हुई। शिमला में समर हिल स्थित शिव मंदिर के लैंडस्लाइड में चपेट में आने से अब तक 14 लोगों के शव मिल चुके हैं, अभी 8 और लोगों के दबे होने की आशंका है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co