Raj Express
www.rajexpress.co
Honey Trap Case Latest Update
Honey Trap Case Latest Update|Social Media
भारत

हनी ट्रैप मामले पर आरती ने किया बड़ा खुलासा

हनी ट्रैप मामले में आरती ने इंजीनियर हरभजन को लेकर कई बड़ी बातें बताई। वहीं श्वेता विजय जैन सहित तीनों आरोपियों के वकील ने SIT टीम पर टॉर्चर का आरोप लगाया। कोर्ट में जज ने आरोपी महिलाओं से नाम पूछे।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • हनी ट्रैप मामले पर आरती ने किया बड़ा खुलासा

  • आरोपियों के वकील ने लगाया SIT टीम पर टॉर्चर का आरोप

  • पांचाें आरोपियों को कोर्ट ने जेल भेजा

  • जज ने दिए महिलाओं के चेहरे से नकाब हटाने के आदेश

  • जज ने आरोपी महिलाओं से नाम पूछे

राज एक्सप्रेस। हनीट्रैप मामले में हर दिन नया मोड़ सामने (Honey Trap Case Latest Update) आ रहा है। मामले में आरोपी साबित हुई महिलाओं की रिमांड खत्म होते ही उनका मेडिकल कराया गया, इसके बाद इन्हे 11 बजे कोर्ट में न्यायधीश मनीष भट्‌ट के सामने पेश किया गया, यहां कोर्ट ने पकड़ी गई पांचाें महिला आरोपियों को मंगलवार को जेल भेजने के आदेश दे दिए है, यह सभी अगली सुनवाई अर्थात 14 अक्टूबर तक जेल में ही रहेंगी। जानकारी के लिए बता दें कि, इससे पहले आरोपी श्वेता पति विजय, श्वेता पति स्वप्निल तथा बरखा सोनी को सोमवार को भोपाल की कोर्ट में पेश भी किया गया था, जहां इन लोग को एक दिन की 'ट्रांजिट रिमांड' पर जाने के आदेश मिले थे।

आरोपी आरती ने किया खुलासा :

मामले में गिरफ्तार हुई आरती दयाल ने बताया कि, "नगर निगम में कार्यरत इंजीनियर हरभजन सिंह को ब्लैकमेल करने के पीछे श्वेता विजय जैन का ही हाथ था, श्वेता ने ही मुझे हरभजन से मिलवाया था, मैं हर काम श्वेता के कमांड पर ही कर रही थी।" इतना ही नहीं पूछताछ के दौरान आरती ने यह भी बताया कि, आरती ने जब हरभजन को ब्लैकमेल करना शुरू किया तो उसने 3 करोड़ रूपये की मांग की, लेकिन हरभजन ने यह राशि ज्यादा होने की बात कही तो, आरती ने श्वेता को फोन किया और उससे बात करके ब्लैकमेल की राशि को 2 करोड़ कर दिया।

आरती ने किया ठेकों से जुड़े मामलों का खुलासा :

आरती ने ठेकों से जुड़े मामलो का भी खुलासा किया, उसने बताया कि, श्वेता ने मेरी मुलाकात हरभजन से करवाई इसके बाद मैंने उससे ठेके की मांग की, लेकिन उसने मेरी बातों पर ध्यान नहीं दिया, इतना ही नहीं 30 से ज्यादा बार मिलकर बोलने पर भी हरभजन ने मेरी मदद नहीं की, तब श्वेता ने हरभजन को ब्लैकमेल करने का प्लान बनाया, प्लान के तहत हरभजन की इंदौर के दो होटलों में एक-दो वीडियो बनाई गई, बाद में इन्ही वीडियो को दिखा कर उसे ब्लैकमेलिंग कर 3 करोड़ रुपए की मांग की गई। आरती ने एक अहम बात यह भी बताई कि, कितने रुपए मांग की जा रही है इस बात की जानकारी सिर्फ श्वेता को थी, छात्रा को नहीं। इसके अलावा हरभजन को यह नहीं समझ आया था कि, आरती ने किसे फोन किया इसलिए उसने रिपोर्ट लिखवाते समय भी श्वेता का कही जिक्र नहीं किया।

लगातार हो रही है पूछताछ :

एसआईटी और इंदौर पुलिस की टीम ने बताया कि, सभी आरोपियों से लगातार एक गुप्त स्थान पर पूछताछ की जा रही है, पहले 2 दिन सुबह 5 बजे पूछताछ की गई, फिर सभी से वन-टू-वन और ग्रुप में पूछताछ की गई। अब सभी आरोपियों ने अपना अपना जुर्म कबूल कर लिया है, इस पूछताछ में कुछ गैजेट्स व इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी सामने आये हैं। पुलिस का मानना है कि, इन लोगों ने ये वीडियोस मोबाइल के अलावा पैन ड्राइव, लैपटॉप और गूगल ड्राइव में सेव करके रखे हैं। अब इनके ई-मेल की जांच चल रही है। पूछताछ के दौरान एक बात और यह सामने आई कि, छात्रा को गुमराह करके अपने इशारों पर नचाने के लिए इन लोग ने उसे फ्लाइट में घुमाया साथ ही आलीशान जिंदगी जीने के तौर-तरीकों में रखा, क्योंकि छात्र गरीब घर से थी।

SSP रुचिवर्धन मिश्र ने बताया :

जब सबसे अलग-अलग पूछताछ की गई तब यह बात सामने आई कि, इस पूरे मामले की मास्टमाइंड श्वेता पति विजय जैन ही है। उसने हरभजन को डायरेक्ट इसलिए ब्लैकमेल नहीं किया क्योंकि, हरभजन ने कई ठेकों में उसके भाई की मदद की थी, यही कारण है कि, श्वेता ने इस काम के लिए आरती की मदद ली।

मजिस्ट्रेट ने दिए नकाब हटाने के आदेश :

हनी ट्रैप मामले में पकड़ी गई तीनों महिला आरोपियों को जब सोमवार को मजिस्ट्रेट भरत कुमार व्यास की कोर्ट में पेश किए गया, तब महिलाओं के वकील ने इन्हे कठघरे में खड़े करने पर आपत्ति जताई, जिसके बाद महिलाओं को कठघरे के बाहर खड़ा करके ही मजिस्ट्रेट द्वारा कार्यवाही की गई। मजिस्ट्रेट ने इन महिलाओं को चेहरे से नकाब हटाने के आदेश दिए और उनसे उनके नाम पूछे, साथ हीे पूछा आप लोग को कुछ कहना है? लेकिन किसी ने भी अपनी तरफ से कोई बात नहीं रखी। तब मजिस्ट्रेट ने इंदौर कोर्ट में पेश करने के आदेश दिये।

वकील ने SIT टीम पर लगाए टॉर्चर के आरोप :

हनीट्रैप मामले की मास्टरमाइंड श्वेता पति विजय जैन के हाथ में चोट के निशान पाये जाने के कारण उसके वकील ने SIT टीम पर श्वेता के साथ टॉर्चर करने का आरोप लगाया है। इस पर बरखा ने और बरखा के वकील ने कोर्ट से निकलने से पहले कहा कहा कि, पुलिस पूछताछ के दौरान हमारे साथ मारपीट भी कर रही है इसके अलावा हमें मानसिक रूप से भी प्रताड़ित किया जा रहा है। श्वेता स्वप्निल जैन के वकील विजय चौधरी ने भी यही बात बोली कि, उनकी पक्षकार को जांच एजेंसी द्वारा मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। इन सब के अलावा श्वेता स्वप्निल जैन का पति उससे मिलने आया था, तब एसआईटी के अधिकारियों ने उसे श्वेता से मिलने नहीं दिया। हनी ट्रैप मामले में पहले भी कई बड़े खुलासे हुए हैं।