UP में डेंगू से मच रहे कोहराम के बीच ICMR ने की D2 स्ट्रेन की पुष्टि
UP में डेंगू और D2 स्ट्रेन से मच रहे कोहराम के बीच ICMR ने जारी की चेतावनीSocial Media

UP में डेंगू से मच रहे कोहराम के बीच ICMR ने की D2 स्ट्रेन की पुष्टि

उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों में पिछले कुछ दिनों से डेंगू बुखार से मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ ही रहा था। इसी बीच अब ICMR ने डेंगू के D2 स्ट्रेन की पुष्टि कर चेतावनी जारी की है।

उत्तर प्रदेश, भारत। जहां देश के कुछ राज्यों में कोरोना का कहर मच रहा है, वहीं, उत्तर प्रदेश में कोरोना कहर के बीच ही पिछले कुछ दिनों से डेंगू और वायरल का आतंक भी बढ़ रहा है। क्योंकि, यहाँ डेंगू के लगातार मामले सामने आरहे है। इतना ही नहीं UP के अलग-अलग जिलों में डेंगू बुखार से मरने वालों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ ही रहा था। इसी बीच अब यहां डेंगू के D2 स्ट्रेन के मामले सामने आने लगे है। D2 स्ट्रेन की पुष्टि कर भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने चेतावनी जारी की है।

ICMR ने जारी की चेतावनी :

दरअसल, इन दिनों उत्तर प्रदेश में लोग डेंगू और वायरल जमकर कहर बरपा रहा है। इतना ही नहीं अब यहां डेंगू के D2 स्ट्रेन ने भी दस्तख दे दी है। इस बात की पुष्टि ICMR ने गुरुवार को की है। कुछ दिन पहले तक सिर्फ डेंगू से ग्रसित मरीज लगातार मर रहे थे। जबकि अब मरीजों में D2 स्ट्रेन भी पाया जा रहा है। इसी बीच भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) द्वारा चौंकाने वाला खुलासा किया है साथ ही चेतावनी जारी की है। इस चेतवानी के तहत बुखार के सैंपल्‍स में डेंगू का D2 स्ट्रेन होने की पुष्टि करते हुए बताया है कि, 'यह स्ट्रेन बहुत घातक होता है और अक्सर ब्‍लीड‍िंग का कारण बनता है। साथ ही यह प्लेटलेट काउंट को भी प्रभावित करता है।'

CMR के प्रमुख ने बताया :

ICMR के प्रमुख डॉ. बलराम भार्गव ने बताया क‍ि, 'मच्छरों के प्रजनन को रोकना ही एकमात्र रोकथाम है। डेंगू भी एक घातक बीमारी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि डेंगू के नए स्‍ट्रेन का प्रकोप उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद, मथुरा और आगरा से सामने आया है जबकि मच्छर से होने वाली बीमारियां पूरे देश में बढ़ रही हैं।'

नीति आयोग के अध्यक्ष ने बताया :

नीति आयोग के अध्यक्ष डॉ वीके पॉल ने कहा है क‍ि, 'कोविड के अलावा डेंगू और मलेरिया से लड़ने के लिए हमारे पास पर्याप्त तैयारी होनी चाहिए क्योंकि ये मामले बढ़ रहे हैं और मानसून के मौसम के कारण भी। हमें खुद को ढंकना चाहिए और मच्छर भगाने वाले, मच्छरदानी का उपयोग करना चाहिए और मच्छरों को पनपने नहीं देना चाहिए। किसी भी बुखार को हल्के में न लें। चाहे वह मलेरिया हो, डेंगू हो या कोविड। हमारा ध्यान कोविड से नहीं हटना चाहिए, लेकिन डेंगू घातक भी हो सकता है और कोई टीकाकरण भी नहीं है। यह बताना भी मुश्किल है कि डेंगू के प्रति अधिक संवेदनशील कौन है।'

बचाव के तरीके :

  • स्वच्छता बनाए रखें

  • बारिश का पानी कहीं जमा न रहने दें

  • सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें

  • बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co