Raj Express
www.rajexpress.co
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना |Social Media
भारत

भारत-बांग्लादेश के बीच हुए महत्वपूर्ण समझौते

प्रधानमंत्री मोदी और शेख हसीना के बीच वार्ता के बाद दोनों देशों ने सात समझौतों पर हस्ताक्षर किये जो जल संसाधन, युवा मामलों, संस्कृति, शिक्षा और तटीय निगरानी से संबंधित हैं।

Rishabh Jat

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना के बीच वार्ता के बाद शनिवार को सात समझौतों पर हस्ताक्षर किए गये। इस दौरान एलपीजी निर्यात समेत तीन परियोजनाओं का शुभारंभ भी किया गया। इनमें से एक परियोजना बांग्लादेश से एलपीजी के आयात से संबंधित है। आयातित एलपीजी का भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में वितरण किया जाएगा।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, ‘‘आज की वार्ता भारत और बांग्लादेश के बीच संबंधों को और मजबूत करेगी, मोदी ने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ तीन और द्विपक्षीय परियोजनाओं का उद्घाटन करने का मौका मुझे मिला है। पिछले एक साल में हमने वीडियो लिंक से 9 परियोजनाएं पेश की हैं। आज की तीन परियोजनाओं समेत एक साल में हमने एक दर्जन संयुक्त परियोजनाएं शुरू की हैं। इस उपलब्धि पर मैं दोनों देशों के अधिकारियों और सभी नागरिकों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।’’

प्रधानमंत्री ने कहा, 'बांग्लादेश-इंडिया प्रोफेशनल स्किल डिवेलपमेंट इंस्टिट्यूट बांग्लादेश के औद्योगिक विकास के लिए कुशल मैनपावर और टैक्निशियन तैयार करेगा। ढाका के रामकृष्ण मिशन में विवेकानंद भवन का प्रोजेक्ट, जो दो महानुभावों के जीवन से प्रेरणा लेता है, हमारे समाजों और मूल्यों पर स्वामी रामकृष्ण परमहंस और स्वामी विवेकानंद का अमिट प्रभाव रहा है। बांग्ला संस्कृतिक की उदारता और खुली भावना की तरह ही इस मिशन में भी सभी पंथों को मानने वालों के लिए स्थान है। विवेकानंद भवन में 100 से अधिक यूनिवर्सिटी छात्रों और रिसर्च स्कॉलर्स के रहने की व्यवस्था की गई है।'

पीएम मोदी ने कहा, ‘‘भारत बांग्लादेश के साथ अपनी साझेदारी को प्राथमिकता देता है। हमें गर्व है कि भारत-बांग्लादेश संबंध दो मित्र पड़ोसी देशों के बीच सहयोग का पूरी दुनिया के लिए एक बेहतरीन उदाहरण है। मुझे खुशी है कि हमारी आज की बातचीत से हमारे संबंधों को और भी ऊर्जा मिलेगी।'’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, ‘‘यही भारत-बांग्लादेश संबंधों का मूल मंत्र भी है। भारत-बांग्लादेश साझेदारी का आधार है कि हमारी मित्रता से हर नागरिक का विकास सुनिश्चित हो।’’ पीएम मोदी ने कहा कि बांग्लादेश से एलपीजी की आपूर्ति दोनों देशो को फायदा पहुंचाएगी।इससे बांग्लादेश में आयात, आय और रोजगार बढ़ेगा। यातायात एवं परिवहन दूरी पंद्रह सौ किलोमीटर कम हो जाने से आर्थिक लाभ भी होगा और पर्यावरण को भी नुकसान कम होगा।