PM मोदी ने रेवाड़ी-मदार रेलखंड का उद्घाटन कर दी बड़ी सौगात
Inauguration of Rewari-Madar Railway BlockTwitter

PM मोदी ने रेवाड़ी-मदार रेलखंड का उद्घाटन कर दी बड़ी सौगात

रेवाड़ी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के रेवाड़ी-मदार रेलखंड का वर्चुअली उद्घाटन कर देश को एक और बड़ी सौगात दे दी है।

रेवाड़ी। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोच्चि-मंगलुरु प्राकृतिक गैस पाइपलाइन का उद्घाटन कर बड़ी सौगात दी थी। वहीं, आज यानि गुरुवार की सुबह PM मोदी ने पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के रेवाड़ी-मदार रेलखंड का वर्चुअली उद्घाटन कर देश को एक और बड़ी सौगात दे दी है। बता दें, पिछले कुछ महीनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश को कई बड़ी सौगातें देने का सिलसिला जारी है।

रेवाड़ी-मदार रेलखंड का उद्घाटन :

दरअसल, आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के 306 किलोमीटर लंबे रेवाड़ी-मदार रेलखंड का उद्घाटन किया। इस रेलखंड की मदद से दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर से सटे राज्यों में प्रस्तावित निवेश क्षेत्रों का विकास तेज होगा और मेक इन इंडिया अभियान को बढ़ावा मिलेगा। बताते चलें, यह देश के लिए गर्व की बात ही है कि, PM मोदी ने एक ऐसे खंड का उद्घाटन के दौरान दुनिया की पहली डबल स्टैक लांग कंटेनर इलेक्टिक ट्रेन को हरी झंडी दिखाई है। पीएम द्वारा उद्घाटन के बाद यह डेढ़ किलोमीटर लंबी ट्रेन न्यू रेवाड़ी-न्यू किशनगढ़-न्यू मदार के बीच दौड़ने लगी है।

ट्रैक को बिछने में लगेगा एक साल का समय :

बताते चलें, जिस ट्रेन का उद्घाटन आज PM मोदी द्वारा हुआ है। उस पूरे ट्रैक को बिछने में लगभग एक साल का समय लगेगा, लेकिन इसके तैयार हो जाने से यह फायदा होगा कि, माल ढुलाई सस्ती हो जाएगी और यात्री गाड़ियां कम समय में अधिक दूरी तय कर सकेंगी। PM मोदी ने अपने संबोधन के दौरान सभी लोगों कोनए साल की बधाई दी और देश के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के अभियान पर बात करते हुए सबसे पहले किसानों के खाते में रुपये ट्रांसफर करने की बात कही। उन्होंने आगे बात करते हुए बीते कुछ समय में हुए लोकार्पण के मुद्दे पर भी बात छेड़ी।

किसान रेल की जानकारी :

PM मोदी ने 100वीं किसान रेल की जानकारी देते हुए कहा कि, '306 किमी लंबे वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरीडोर का लोकार्पण हुआ है। नव वर्ष में आगाज अच्छा तो अच्छा रहेगा। मेड इन इंडिया वैक्सीन बड़ी उपलब्धि बताया और कहा कि भारत ने कोरोना संकट में बेहतर काम किया है। हम न रुकेंगे न थकेंगे और तेजी से आगे बढ़ेंगे। हर किसी को इन परियोजनाओं पर गर्व है। मालगाड़ियों की औसत स्पीड तीन गुना बढ़ी है। यह परियोजना गेम चेंजर है। पहली डबल स्टैक कंटेंनर ट्रेन बड़ी उपलब्धि है। भारत इस क्षमता वाले गिने-चुने देशों में शामिल हो गया है। इसके लिए रेलवे के साथियों को बधाई।'

उन्होंने आगे कहा, 'आज का दिन एनसीआर के साथ-साथ हरियाणा व राजस्थान के किसानों के लिए एतिहासिक है। पूर्वी कॉरिडोर ने परिणाम देने शुरू कर दिए हैं। इसके साथ पंजाब से खाद्यान्न व झारखण्ड से कोयला लाना आसान हुआ। इसका लाभ गरीब किसानों को भी होगा। छोटे और बड़े उद्योगपति लाभान्वित होंगे। इससे अर्थ व्यवस्था को भी गति मिलेगी। सड़क, इन्टरनेर, बिजली, पानी, घर, स्वच्छता और स्वास्थ्य को लेकर अभियान चल रहा है। इस कॉरिडोर से उद्योगों को लाभ होगा। आज हमें वैश्विक स्तर पर खुद को आगे रखना है। मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी पर जोर दिया जा रहा है। दुनिया भारत की ओर देख रही है।'

ट्रैक के फायदे :

  • इस ट्रैक के बनने से पूरे दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात व महाराष्ट्र में माल की आवाजाही सुगम व सस्ती हो जाएगी।

  • इससे मौजूदा रेलवे ट्रैक पर संचालन भार कम होगा, जिससे यात्री गाड़ियों की स्पीड बढ़ाना भी संभव हो सकेगा।

  • वेस्टर्न डीएफसी राजधानी दिल्ली को आर्थिक राजधानी मुंबई से जोड़ेगा।

  • यह डबल लाइन गलियारा पूरी तरह विद्युतीकृत होगा।

  • इससे खाद, खाद्यान्न, नमक, कोयला, लोहा, स्टील व सीमेंट जैसी जरूरी वस्तुएं कम समय में गंतव्य तक पहुंचेगी।

  • इस कॉरिडोर की ट्रैक सामान्य से अधिक क्षमता की रहेगी।

वेस्टर्न कॉरिडोर से राज्यों की दूरी :

  • हरियाणा-177 किमी

  • राजस्थान-567 किमी

  • गुजरात-565 किमी

  • महाराष्ट्र-177 किमी

  • उत्तर प्रदेश-18 किमी

  • कुल दूरी-1504 किमी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co