चीन के आंतरिक मामलों पर बयानबाजी से भारत नाराज- दिया कड़ा संदेश
चीन के आंतरिक मामलों पर बयानबाजी से भारत नाराज- दिया कड़ा संदेश|Social Media
भारत

चीन के आंतरिक मामलों पर बयानबाजी से भारत नाराज- दिया कड़ा संदेश

भारत और चीन के बीच विवाद नहीं थम रहा है। चीन द्वारा भारत के आंतरिक मामलों पर बयानबाजी से नाराज भारतीय विदेश मंत्रालय ने चीन को दो टूक जवाब देते हुए कहा-आंतरिक मामलों में दखलअंदाजी करना बंद करे।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

भारत। दुनिया भर में एक तरफ वैश्विक महामारी कोरोना का कहर चरम पर है, थमने का नाम नहीं ले रहा है। तो वहीं, दूसरी ओर भारत और चीन के बीच भी गतिरोध जारी है। दोनों देश एक दूसरे के खिलाफ बयान बाजी कर रहे हैं। अब हाल ही में भारत ने चीन को आंतरिक मामलों को लेकर कर रहा बयानबाजी पर कड़ा संदेश दिया है।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख अभिन्न अंग थे, हैं और रहेंगे :

दरअसल, भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा चीन को दो टूक शब्दों में जवाब देते कहा है कि, वो उसके आंतरिक मामलों में दखलअंदाजी करना बंद करे। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत के अभिन्न अंग थे, हैं और रहेंगे। किसी को भी भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है।

इसके अलावा भारत के विदेश मंत्रालय को ओर से बीजिंग को नसीहत देते हुए यह भी कहा है कि, यदि दूसरे देश यह चाहते हैं कि कोई उनके आंतरिक मामलों में दखलअंदाजी न करे, तो उन्हें भी ऐसा करने से बचना चाहिए। साथ ही आगे नई दिल्ली ने अरुणाचल प्रदेश पर पुन: अपना रुख स्पष्ट करते हुए ये भी कहा कि, "अरुणाचल प्रदेश भारत का एक अभिन्न और अविभाज्य अंग है। इस तथ्य को कई बार चीन को अवगत कराया गया है, उच्च स्तरीय बैठकों में भी।"

गौरतलब है कि, हर बार चीन द्वारा अरुणाचल और लद्दाख को लेकर बयानबाजी करता आ रहा है, यहां होने वाली हर गतिविधि भारत को विचलित कर देती है, इसी के मद्देनजर इस बार भारत ने नाराजगी जाहिर चीन को स्पष्ट शब्दों में कड़ा संदेश दिया कि, यदि उसके द्वारा भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी की जाएगी, तो वह भी इसके लिए तैयार रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co