पैंगोंग झील के पास भारत-चीन के सैनिकों मेें फिर से झड़प
पैंगोंग झील के पास भारत-चीन के सैनिकों मेें फिर से झड़प|Social Media
भारत

लद्दाख बॉर्डर पर पैंगोंग झील के पास भारत-चीन के सैनिकों मेें फिर से झड़प

लद्दाख में पैंगोंग झील इलाके के पास भारत और चीन के सैनिकों के बीच एक बार फिर बॉर्डर पर झड़प की खबर सामने आ रही है, दोनों देशों के सैनिक 29-30 अगस्त की रात को आमने-सामने आए।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

लद्दाख : लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव कम होने की उम्‍‍‍‍‍मीद से पहले ही ऐसी कुछ खबरेंं सामने आ जाती हैैं, जिससे विवाद और बढ़ने की आशंका रहती है। अब हाल ही में ये बड़ी खबर सामने आ रही हैै कि, लद्दाख में पैंगोंग झील इलाके के पास भारत-चीन के सैनिकों के बीच एक बार फिर बॉर्डर पर झड़प हुई है।

रात के वक्‍त हुई झड़प की वारदात :

सामने आ रही जानकारी के अनुसार, लद्दाख के पैंगोंग में भारत-चीन दोनों देशों के सैनिकों के बीच फिर झड़प की ये वारदात बीते दिन यानी 29-30 अगस्त की दरम्‍यानी रात को हुई है। हालांकि, झड़प से किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। खबरों के मुताबिक, एक बार फिर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के सैनिकों ने पहले से बनी सहमति का उल्लंघन करते हुए घुसपैठ की कोशिश की।

भारतीय सेना का बयान :

तो वहीं इस संबंध भारतीय सेना द्वारा एक बयान भी साझा किया गया है, जिसमें कहा- भारतीय जवानों ने पैंगोंग सो क्षेत्र में यथास्थिति बदलने के चीन की पीएलए के उकसावे वाले सैन्य अभियान को विफल किया। भारतीय सैनिकों ने जमीन पर तथ्यों को एकतरफा बदलने के चीनी इरादों को विफल करने के उपाय किए। चीनी सैनिकों ने 29 और 30 अगस्त की दरमियानी रात सैन्य और राजनयिक बातचीत के जरिये बनी पिछली आम सहमति का उल्लंघन किया, भारतीय सेना बातचीत के माध्यम से शांति और स्थिरता बनाए रखने को प्रतिबद्ध है, लेकिन साथ ही देश की क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा करने के लिए भी उतनी ही प्रतिबद्ध है।

चुसुल में ब्रिगेड कमांडर स्तर की फ्लैग मीटिंग :

पैंगोग त्सो इलाके में हुई हालिया झड़प पर भारतीय सेना की तरफ से बयान जारी बताया कि, विवाद को सुलझाने के लिए चुसुल में ब्रिगेड कमांडर स्तर की फ्लैग मीटिंग चल रही है।

गौरतलब है कि, इससे पहले पूर्वी लद्दाख के गलवन घाटी में 15-16 जून की दरम्यानी रात भारतीय और चीनी सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी, इसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद व चीन के 43 सैनिकों के भी हताहत होने की बात कही जा रही थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co