Corona Vaccine: डॉ. हर्षवर्धन ने बताया भारत में कब से मिलेगी कोविड वैक्सीन

Corona Vaccine: स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने आज भारत में कोविड वैक्सीन कब तक संभव हो सकती है, इसकी जानकारी दी एवं ये आश्‍वासन भी दिया की वैक्सीन के ट्रायल में पूरी सावधानी बरती जा रही है।
Corona Vaccine: डॉ. हर्षवर्धन ने बताया भारत में कब से मिलेगी कोविड वैक्सीन
डॉ. हर्षवर्धन ने बताया भारत में कब से मिलेगी कोविड वैक्सीनTwitter Video

Corona Vaccine: देश में घातक कोरोना वायरस का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है और रोजाना ही कोविड-19 के रिकॉर्ड तोड़ नए केस सामने आ रही है और पिछले कुछ दिनों से 90 हजार से ज्यादा मरीज संक्रमित हो रहे हैं, ऐसे में अब सिर्फ सभी को इस महामारी कोरोना की वैक्सीन का इंतजार है। इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है कि, आज 13 सितंबर को 'संडे संवाद' में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने कोरोना वैक्सीन को लेकर ही अहम जानकारी दी है।

अगले साल आ सकती है वैक्सीन :

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन 'रविवार संवाद' कार्यक्रम के दौरान भारत में वैक्सीन कब तक संभव हो सकती है, इस बारे में उन्‍होंने बताया कि, ''अभी वैक्सीन की लॉन्चिंग को लेकर कोई तारीख तय नहीं हुई है, लेकिन यह अगले साल 2021 की पहली तिमाही में आ सकती है।''

सरकार वरिष्ठ नागरिकों और उच्च जोखिम जगहों पर काम करने वाले लोगों को कोविड-19 टीकाकरण के आपातकालीन प्राधिकरण पर विचार कर रही है। यह सहमति बनने के बाद किया जाएगा। कोविड-19 के लिए वैक्सीन प्रशासन पर राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह इस पर एक विस्तृत रणनीति तैयार कर रहा है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को कैसे टीका लगाया जाए।

डॉ. हर्ष वर्धन

कोविड वैक्सीन के ट्रायल के दौरान पूरी सावधानी :

इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने ये आश्वासन भी दिया कि, कोविड वैक्सीन के ट्रायल के दौरान पूरी सावधानी बरती जा रही है। वैक्सीन सुरक्षा, लागत, इक्विटी, कोल्ड-चेन जरूरतों, उत्पादन समय-सीमा जैसे मुद्दों पर भी गहनता से चर्चा की जा रही है।

डॉ. हर्षवर्धन का यह बयान उस समय आया, जब एक दिन पहले दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने कहा है कि, ''ब्रिटिश रेग्युलेटर से हरी झंडी मिलने के बाद इसने कोविड-19 वैक्सीन का मानव परीक्षण एक बार फिर शुरू कर दिया है। एक वॉलंटियर के बीमार पड़ जाने की वजह से इसे बीच में रोकना पड़ा था। इसके बाद भारत में भी इस वैक्सीन के ट्रायल पर रोक लगा दी गई थी।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co