भारत ने गेहूं निर्यात पर लगाया प्रतिबंध, जानिए सरकार ने क्यों लिया यह फैसला
भारत ने गेहूं निर्यात पर लगाया प्रतिबंधSocial Media

भारत ने गेहूं निर्यात पर लगाया प्रतिबंध, जानिए सरकार ने क्यों लिया यह फैसला

भारत ने तत्काल प्रभाव से गेहूं के निर्यात (Wheat Export) पर प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार ने शुक्रवार देर रात एक अधिसूचना जारी कर इसकी जानकारी दी है।

राज एक्सप्रेस। भारत ने तत्काल प्रभाव से गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार ने शुक्रवार देर रात एक अधिसूचना जारी कर इसकी जानकारी दी है। भारत सरकार द्वार यह फैसला इसलिए लिया गया ताकि स्थानीय कीमतों को काबू में रखा जा सके।

भारतीय वाणिज्य मंत्रालय की और से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि, देश की समग्र खाद्य सुरक्षा का प्रबंधन करने और अन्य कमजोर देशों की जरूरतों का समर्थन करने के लिए, केंद्र सरकार ने तत्काल प्रभाव से गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके साथ ही अधिसूचना में कहा गया है कि, अन्य देशों की खाद्य जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत सरकार के पास किए गए अनुरोध के आधार पर निर्यात की अनुमति दी जाएगी।

विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने 13 मई को जारी अधिसूचना में कहा, सिर्फ उस स्थिति में निर्यात की अनुमति दी जाएगी जहां अधिसूचना की तारीख को या उससे पहले अप्रतिसंहरणीय साख पत्र जारी किया गया हो।

उन्होंने कहा कि, अन्य देशों को उनकी खाद्य सुरक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत सरकार द्वारा दी गई अनुमति के आधार पर निर्यात की अनुमति दी जाएगी।

बता दें, रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग की वजह से गेहूं की अंतरराष्ट्रीय कीमत में करीब 40 फीसदी तेजी आई है। इसकी वजह से भारत से गेहूं का निर्यात बढ़ गया है। वहीं, मांग बढ़ने के कारण स्थानीय मार्केट में गेहूं व आटे की कीमतों में तेजी देखने को मिल रही है।

प्याज के बीज के निर्यात को आसान बनाने की घोषणा:

वहीं, एक अलग अधिसूचना में विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने प्याज के बीज के लिए निर्यात को आसान बनाने की घोषणा की है। हालांकि इससे पहले प्याज के बीज के निर्यात पर भी रोक लगा दी गई थी। डीजीएफटी ने कहा, प्याज के बीज की निर्यात नीति को तत्काल प्रभाव से सीमित श्रेणी के तहत रखा जाता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.