भारत और अमेरिका ने मानव रहित यानों के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये
भारत और अमेरिका ने मानव रहित यानों के लिए समझौते पर हस्ताक्षर कियेSocial Media

भारत और अमेरिका ने मानव रहित यानों के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये

भारत और अमेरिका ने रक्षा प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने की दिशा में बड़ा कदम उठाते हुए हवा से लांच किये जाने वाले मानव रहित यानों के लिए एक परियोजना समझौता पर हस्ताक्षर किये हैं।

नई दिल्ली। भारत और अमेरिका ने रक्षा प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने की दिशा में बड़ा कदम उठाते हुए हवा से लांच किये जाने वाले मानव रहित यानों के लिए एक परियोजना समझौता पर हस्ताक्षर किये हैं।

रक्षा मंत्रालय ने एक वक्तव्य जारी कर दी जानकारी :

रक्षा मंत्रालय और अमेरिका के रक्षा विभाग के बीच इस समझौते पर रक्षा प्रौद्योगिकी और व्यापार पहल (डीटीटीआई) में हवाई प्रणालियों से संबंधित संयुक्त कार्य समूह के तहत गत 30 जुलाई को हस्ताक्षर किये गये। इस बारे में रक्षा मंत्रालय की ओर से आज शुक्रवार को एक वक्तव्य जारी कर यह जानकारी दी गई है।

दोनों देशों के बीच इस आधार पर किया गया समझौता :

हवा से लांच किये जाने वाले मानव रहित यानों के लिए हुआ यह समझौता दोनों देशों यानी भारत और अमेरिका के बीच साल 2006 के जनवरी माह में किये गये समझौता ज्ञापन के आधार पर किया गया है। इन दोनों देशों (भारत और अमेरिका) ने इस समझौता ज्ञापन पर साल 2015 में जनवरी के माह में दोबारा हस्ताक्षर किये थे और इसे दोनों देशों के बीच रक्षा उपकरणों के सह विकास के माध्यम से रक्षा प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम के रूप में देखा जा रहा है।

नर्मदेश्वर तिवारी और ब्रायन आर ब्रुकबेयर ने किये हस्ताक्षर :

तो वहीं, गत 30 जुलाई को हुए समझौते पर वायु सेना की ओर से एसिस्टेंट चीफ ऑफ एयर स्टाफ (योजना) एयर वाइस मार्शल नर्मदेश्वर तिवारी और अमेरिकी वायु सेना की एयर फोर्स सिक्योरिटी एसिस्टेंट के निदेशक ब्रिगेडियर जनरल ब्रायन आर ब्रुकबेयर ने हस्ताक्षर किये।

दोनों देश मिलकर मानव रहित यानों का प्रोटोटाइप करेंगे तैयार :

बताया जा रहा है कि, मानव रहित यानों के लिए परियोजना समझौता पर हस्ताक्षर होने के बाद अब समझौता परियोजना के तहत दोनों देश एक साथ मिल कर इन मानव रहित यानों का प्रोटोटाइप तैयार करेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co